मुस्लिम देशों बीच असहमति इस्लामी एकता को कमजोर कर रही है, हम इसे मजबूत बनाना चाहते हैं- इमरान खान

मुस्लिम देशों बीच असहमति इस्लामी एकता को कमजोर कर रही है, हम इसे मजबूत बनाना चाहते हैं- इमरान खान

प्रधान मंत्री इमरान खान ने बुधवार को एक अरब मीडिया आउटलेट के साथ एक इंटरव्यू के दौरान कहा की, मुस्लिम देशों बीच असहमति इस्लामी एकता को कमजोर कर रही है। पाकिस्तान मुस्लिम देशों की एकता बरकरार रखने में मदद करना चाहता है।

अल अरेबिया से बात करते हुए, खान ने टिप्पणी की कि कैसे मुस्लिम दुनिया में तनाव को खत्म करने और मुस्लिम देशों के बीच समझ बनाने पर ध्यान केंद्रित करने में पाकिस्तान भूमिका निभाने की इच्छा रखता है।

प्रधान मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान मध्य पूर्व में मध्यस्थ की भूमिका निभाने की इच्छा रखता है और यमन संघर्ष को समाप्त करने में सकारात्मक भूमिका निभाने के लिए तैयार है।

उन्होंने जोर देकर कहा कि इस्लामी दुनिया के देशों में कोई मतभेद नहीं होना चाहिए, यह नोट करते हुए कि पाकिस्तान अफगानिस्तान और अन्य देशों के बीच तनाव से पहले से ही प्रभावित हुआ है।

आपको बता दें कि, पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने सऊदी और UAE का दो दिनों का दौरा पूरा कर लिया है। वह मंगवार रात सऊदी पहुंचे जहाँ उन्होंने पहले मदीना में मस्जिद अल नबवी का दौरा किया और वहां नमाज़ अदा कर मुस्लिम देशों में चैन- ओ-अमन की दुआ की। इसके बाद वह जेद्दाह पुहंचे जहाँ सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने उनके लिए ख़ास डिनर का इन्तेज़ामात किया था।

अपने दौरे के दुसरे दिन यानी बुधवार को इमरान खान ने पहले उमराह अदा किया। सऊदी सरकार ने उनके विशेष सम्मान में खाना- ए- काबा का दरवाज़ा भी खोला।

इमरान खान ने अन्दर जाकर नमाज़ अदा की। इसके बाद इमरान खान ने सऊदी किंग सलमान से मुलाक़ात की मुलाक़ात के दौरान सऊदी ने पाकिस्तान के इस मुश्किल वक़्त में देश की बड़ी मदद करने का वादा किया है।

Top Stories