बीफ़ खाना चाहते हैं, तो खाइए, लेकिन इसके फेस्टिवल का आयोजन क्यों?- वेंकैया नायडू

बीफ़ खाना चाहते हैं, तो खाइए, लेकिन इसके फेस्टिवल का आयोजन क्यों?- वेंकैया नायडू
Click for full image

मुंबई। उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू सोमवार को बीफ पार्टी और किस इवेंट आयोजित करने वालों को नसीहत देते नजर आए। उन्होंने इसके साथ ही संसद पर हमले के दोषी अफजल गुरु को फांसी दिए जाने के विरोध में कार्यक्रम करने वालों की भी निंदा की।

वेंकैया ने मुंबई में आयोजित एक कार्यक्रम में कहा, ‘आप बीफ खाना चाहते हैं, तो खाइए। लेकिन इसके फेस्टिवल का आयोजन क्यों? कुछ ऐसा ही मामला किस को लेकर भी है। अगर आप किस करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको फेस्टिवल की या किसी की आज्ञा की क्या जरूरत?’

इस दौरान उपराष्ट्रपति ने अफजल गुरु का भी जिक्र करते हुए कहा, ‘फिर आप अफजल गुरु को लीजिए। कुछ लोग उसका नाम जप रहे हैं। यह क्या हो रहा है। उसने हमारी संसद को धमाके में उड़ाने की कोशिश की थी।’

उपराष्ट्रपति मुंबई स्थित आरए पोद्दार कॉलेज ऑफ कॉमर्स ऐंड इकॉनमिक्स के प्लैटिनम जुबली प्रोग्राम में बोल रहे थे। उपराष्ट्रपति ने कार्यक्रम में मौजूद पैरंट्स, टीचर्स और स्कूल के लोगों से कहा कि वे घर और कॉलेज में माहौल को तनाव रहित बनाएं। उन्होंने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि कुछ पैरंट्स अपने बच्चे की क्षमता को समझ नहीं पाते हैं।

केंद्र में मंत्री रहने के दौरान चल रहे बीफ विवाद पर भी वेंकैया का बयान आया था। उन्होंने कहा था कि वह खुद भी मांसाहारी हैं और सबको अपनी पसंद का भोजन करने का हक है। उन्होंने कहा था, ‘मैं मांसाहारी हूं। मुझे कभी भी किसी ने भी कुछ भी खाने से नहीं रोका है।

Top Stories