मूडीज रेटिंग: मनमोहन बोले सरकार इस भुलावे में न आए,अर्थव्यवस्था अभी भी संकट में

मूडीज रेटिंग: मनमोहन बोले सरकार इस भुलावे में न आए,अर्थव्यवस्था अभी भी संकट में
Click for full image

कोच्चि :मूडीज द्वारा 13 साल बाद भारत की रेटिंग सुधार से भले ही मोदी सरकार खुश नज़र आरही हो, लेकिन विपक्ष अर्थव्यवस्था के मुद्दे पर सरकार को बख्शने के मूड में नहीं है।

शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा कि एनडीए सरकार को इस भुलावे में नहीं आना चाहिए कि अर्थव्यवस्था संकट से बाहर आ गई है। मूडीज द्वारा देश की रेटिंग बढ़ाये जाने पर अपनी प्रतिक्रिया में उन्होंने यह बात कही।

इसके अलावा पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम ने भी सरकार के जश्न पर तंज कसा और याद दिलाया कि यही सरकार मूडीज की रेटिंग प्रक्रिया को गलत बता चुकी है।

गौरतलब है कि अमेरिकी रेटिंग एजेंसी ने भारत की साख Baa3 से बढ़ाकर Baa2 कर दी। साथ ही रेटिंग परिदृश्य सकारात्मक से स्थिर यह कहते हुए स्थिर श्रेणी में कर दिया है कि सुधारों से बढ़ते ऋण संकट को स्थिर करने में मदद मिलेगी।

डॉ मनमोहन सिंह ने अपनी प्रतिक्रिया में कहा, ‘मुझे खुशी है कि मूडीज ने वह किया है जो उन्हें करना चाहिए, लेकिन हमें भुलावे में नहीं रहना चाहिए कि हम मुश्किलों से बाहर आ गए हैं।’

सिंह की टिप्पणी वित्त मंत्री अरुण जेटली के मूडीज के कदम पर दिए गए बयान के संदर्भ में आई है। जेटली ने शुक्रवार को कहा था कि मूडीज द्वारा देश की साख 13 साल बाद बढ़ाना सरकार के आर्थिक सुधारों को देर से दी गई मान्यता है।

 

Top Stories