Thursday , July 19 2018

भाजपा सरकार में हत्यारों और बलात्कारियों को छूट मिलने से उनके हौसले बुलंद : ई. अबूबकर

पाॅपुलर फ्रंट आॅफ इंडिया के चेयरमैन ई. अबूबकर ने एक बयान में जम्मू के कठुआ जिले की 8 वर्षीय आसिफा की गैंगरेप के बाद हत्या और उन्नाव बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर व अन्य द्वारा एक लड़की के साथ रेप की घटनाओं की कड़ी निंदा की है।
जम्मू कश्मीर के कुछ पुलिस अधिकारियों ने साम्प्रदायिक राजनीतिक माफिया के साथ मिलकर, जिस तरह से एक कमउम्र बच्ची का गैंगरेप के बाद क़त्ल किया, उससे साफ हैं कि देश में सुरक्षा एजेंसियाँ और फासीवादी ताकतें मिलकर अपराध कर रही हैं।

इस घटना को वादी में दशकों से हो रहे रेप और हज़ारों नौजवानों की जबरन नज़रबंदी और हत्या की घटनाओं से अलग करके नहीं देखा जा सकता, जिनमें अपराधियों को माफी दे दी जाती है। 8 वर्षीय आसिफा को उसकी दर्दनाक हत्या से पहले कई दिनों तक एक मंदिर में रखा जाना और उसके बाद कुछ स्थानीय हिंदुओं का हत्यारों के समर्थन में सामने आना, उनकी नैतिकता की गिरावट और दूसरे समुदायों के प्रति नफरत के स्तर का पता देता है।

इसीलिए इस घटना को केवल एक गैंगरेप की घटना समझना गलत है, बल्कि इसे कश्मीरी मुसलमानों से इंतकाम के राजनीतिक एजेंडे का हिस्सा समझा जाना चाहिए। यह आरोप भी लगाए जा रहे हैं कि बीजेपी मंत्री लाल सिंह की मुसलमानों से उनकी ज़मीनें छीनने की कोशिश ने इस घिनौने अपराध को अंजाम देने पर उकसाया।

स्थानीय लोगों, बीजेपी नेताओं यहाँ तक कि अपराधियों को बचाने की कोशिश करने वाले जम्मू बार कौंसिल के वकीलों ने जो सख्तदिली दिखाई है, वह बहुत बड़ी साजिश का पता देती है। ई. अबूबकर ने स्थानीय बीजेपी मंत्री लाल सिंह के रोल सहित सभी तथ्यों से पर्दा उठाने के लिए अदालत की निगरानी में निष्पक्ष जाँच की मांग की।

ई. अबूबकर ने योगी आदित्यनाथ के राज में यूपी के अंदर कमज़ोर वर्गों के खिलाफ दिन प्रतिदिन बढ़ते राजनीतिक रूप से समर्थित हमलों पर गहरे दुख और गुस्से का इज़हार किया। उन्होंने कहा कि स्थानीय बीजेपी नेताओं के नेतृत्व वाले हिंदुत्वा गिरोहों को राज्य भर में दी जा रही माफी और छूट, बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर जैसे अपराधियों को गैंगरेप जैसे घिनौने अपराध करने का हौसला देती है।

रेप की शिकार लड़की के पिता की पुलिस हिरासत में हुई मौत ने एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि राज्य में प्रशासन और पुलिस पर बीजेपी के अपराधी गिरोहों का कंट्रोल है। ई. अबूबकर ने यूपी की तमाम सेक्युलर ताकतों और जनआंदोलनों से राज्य को साम्प्रदायिक फासीवादी माफियाओं के चंगुल से आज़ादी दिलाने के लिए संयुक्त रणनीति पर काम करने की अपील की।

TOPPOPULARRECENT