Saturday , December 16 2017

अजान के बीच भागती लड़की वाले विडियो पर चुनाव आयोग में की गई शिकायत

वायरल हो रहे वीडियो का एक दृश्‍य। (Source: Screenshot)

गुजरात में एक और विवादास्पद वीडियो सामने आने के बाद इस वीडियो को धार्मिक उन्माद बढ़ाने वाला बताते हुए एक वकील ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग और प्रशासन से भी की है. आप को बता दें की कुछ दिन से सोशल मीडिया पर एक नया वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें एक युवा लड़की को सड़क पर डर-डर कर चलते हुए दिखाया गया है जबकि बैकग्राउंड में अज़ान जैसी आवाज गूंजती रहती है।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक गुजराती भाषा में बनाए गए 1.15 मिनट के इस वीडियो की शुरुआत में लाइन है, ‘गुजरात में शाम 7 बजे के बाद ये हो सकता है’। वीडियो में एक घबराई लड़की जल्‍दी-जल्‍दी में जाते दिखती है। बैकग्राउंड में अज़ान जैसा कुछ चलता रहता है। उसके मां-बाप घर पर बेचैनी से उसका इंतजार कर रहे हैं। घर में भगवान कृष्‍ण की फोटो टंगी है।

जब लड़की घर पहुंचती है तो वह डोर बेल बजाती है। उसकी मां दरवाजा खोलती है और उसे गले लगा लेती है, बाप राहत भरी सांस लेते हुए बेटी के माथे पर हाथ फेरता है।

इस वीडियो की जिम्‍मेदारी अभी तक किसी ने नहीं ली। ह्यूमन राइट्स लॉ नेटवर्क (HRLN) में मानव अधिकारों के वकील गोविंद परमार ने चुनाव आयोग व गुजरात पुलिस को पत्र लिखकर इस वीडियो क्लिप का प्रसार रोकने को कहा है। परमार का कहना है कि इस क्लिप का इस्‍तेमाल राज्‍य में वोटों के धुव्रीकरण और मुस्लिमों के खिलाफ नफरत फैलाने के लिए हो सकता है।

चुनाव में वोटरों को रिझाने, भड़काने और गोलबंद करने की कोशिश लगभग हर चुनाव में होती है लेकिन प्रशासन को समय रहते इन्हें काबू करना होगा वर्ना माहौल बिगाड़ने से नही रोका जा सकता. साइबर युग के दौर में डिजिटल घृणा रोकने के भी पुख्ता इंतेज़ाम करने होंगे.

TOPPOPULARRECENT