Wednesday , April 25 2018

उत्तर प्रदेश : करोड़ों रुपए है बकाया, मंत्रियों के आवासों के कटेंगे कनेक्शन!

लखनऊ। प्रदेश में मंत्री से लेकर आईएएस अधिकारियों पर लाखों रुपये के बिजली बिल बकाया हैं। सबसे ज्यादा बटलर पैलेस का 3.62 करोड़ रुपये बिजली बिल बाकी है। राज्य संपत्ति विभाग की दिलकुशा कॉलोनी में 49 लाख, राजभवन कॉलोनी और विक्रमादित्य मार्ग स्थित राज्य संपत्ति विभाग की कॉलोनियों का 2.5 करोड़ रुपये से ज्यादा बिल बकाया है।

लखनऊ समेत पांच शहरों में बिजली व्यवस्था के निजीकरण का विरोध कर रहे पावर कॉरपोरेशन के लोगों की दलील है कि सरकारी पैसा मिल जाए तो सब कुछ अपने आप सही हो जाएगा। शनिवार को विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति ने सरकारी कॉलोनियों के बड़े बकाएदारों की सूची जारी की है। राज्य संपत्ति विभाग के अधीन आने वाले मंत्रियों के बंगलों पर कई साल से लाखों रुपये का बिल बकाया है।

मंत्री आवासों के कनेक्शन का भुगतान राज्य सम्पत्ति विभाग को करना होता है। संघर्ष समिति ने कहा कि जब व्यक्तिगत बकाएदारों के कनेक्शन कांटे जाएंगे तो उसमें पहले जो बड़े बकाएदार हैं, उनके कनेक्शन कटेंगे।

इनके आवासों पर इतनी बकाया राशि है। सुरेश खन्ना 9.20 लाख रुपये, सुरेश राणा- 9.25 लाख रुपये, स्वामी प्रसाद मौर्या- 2.63 लाख रुपये, केशव प्रसाद मौर्या- 10.79 लाख रुपये, नंद गोपाल दास नंदी- 2.63 लाख रुपये, श्रीकांत शर्मा- 6.51 लाख रुपये, सूर्य प्रताप शाही- 9.28 लाख रुपये, सत्यदेव पचौरी- 2.29 लाख रुपये, सतीश महाना- 25 लाख रुपये, दिनेश शर्मा- 40 लाख रुपये, स्वाती सिंह- 17 लाख, सिद्धार्थ नाथ सिंह- 3.87 हजार रुपये, स्वतंत्र देव सिंह- 3.77 लाख रुपये।

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता जीशान हैदर ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास, मंत्रियों के आवास, सरकारी विभागों और सरकारी आवासों, अधिकारियों के आवासों, जिलाधिकारी कार्यालय सहित राजधानी के बहुमंजिला भवनों में संचालित हो रहे कार्यालयों में बिजली बिल के भुगतान के लिए सरकार ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया है। इसका नतीजा है कि आज इन सरकारी विभागों और आवासों पर करोड़ों रुपये बकाया है।

TOPPOPULARRECENT