Monday , May 21 2018

अमित शाह और योगी की सभा में कुर्सियां रही खाली, भरने के लिए पुलिस वाले लोगों से कर रहे थे अनुरोध

भाजपा प्रेसिडेंट अमित शाह और यूपी के CM योगी की वाराणसी में आयोजित युवा उद्घोष कार्यक्रम में कुर्सियां खाली रहने की खबर सामने आई है। दैनिक अख़बार अमर उजाला की खबर के मुताबिक  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी समेत पूर्वांचल के युवाओं को पार्टी से जोड़ने के लिए शन‌िवार को आयोजित युवा उद्घोष कार्यक्रम में कुर्सियां खाली रही गईं। इस बात को लेकर पार्टी विधायकों, पदाधिकारियों और व्यवस्था करने वालों की कार्यप्रणाली और क्षमता को लेकर तरह-तरह की चर्चा होने लगी।

पार्टी के नेता ही नहीं बल्कि पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी चिंतित दिखे। स्थिति कुछ ऐसी रही कि जब दोनों राजनेता कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गए और कुर्सियां नहीं भरीं तो पुलिस ने जुगाड़ लगाया। शाह और योगी निर्धारित समय डेढ़ बजे की बजाय ढाई बजे काशी विद्यापीठ पहुंचे थे।

अधिकारी के निर्देश पर राह चलते लोगों से भी सभा स्थल में जाने के लिए पुलिसकर्मी अनुरोध करने लगे। इसके साथ ही सभास्थल के प्रवेश द्वारों पर तैनात पुलिसकर्मियों को कहा गया कि उन्हें भी जाने दो जो काले रंग की जैकेट-स्वेटर पहने हुए हैं।

दो दिन पूर्व कार्यक्रम में 17 से 35 साल के 17 हजार युवाओं की भागीदारी होने का दावा किया गया था जबकि सात हजार युवा ही जुट पाए। सूत्रों की मानें तो रजिस्ट्रेशन भी 12 हजार ही हुए थे।

दूसरी ओर भाजपा के क्षेत्रीय अध्यक्ष लक्ष्मण आचार्य ने कहा कि यह पहला डिजिटल कार्यक्रम रहा। 20 रुपये देकर युवा इस कार्यक्रम में शामिल हुए। अमूमन राजनीतिक दल पैसा देकर कार्यक्रम के लिए भीड़ जुटाते हैं।

कार्यक्रम में युवतियों और लड़कियों का नहीं होना स्पष्ट संकेत था कि आधी आबादी का इस उद्घोष की आवाज पहुंच ही नहीं सकी। वो भी तब, जब मंच पर नारी शक्ति का प्रतिनिधित्व करती हुईं मेयर, जिला पंचायत अध्यक्ष के साथ बेसिक शिक्षा मंत्री मौजूद थीं

कार्यक्रम में युवतियों, महिलाओं की न के बराबर हिस्सेदारी पर पार्टी के कुछ नेताओं ने माना कि कई युवतियों ने ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराया था लेकिन कार्यक्रम में उनकी उपस्थिति नहीं रही।

 

 

TOPPOPULARRECENT