Sunday , August 19 2018

अर्दग़ान,रूहानी कुर्दिश राज्य के विरोध में हुए एकजुट

डाक्टर हसन रूहानी ने बुधवार को तुर्की के राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दग़ान के साथ संयुक्त प्रेस कांफ़्रेंस में कहा कि दोनों देशों का लक्ष्य क्षेत्र में शांति, सुरक्षा और स्थिरता की स्थापना है।

राष्ट्रपति रूहानी ने इसी प्रकार सीरिया संकट और इराक़ से इराक़ी कुर्दिस्तान के अलग होने के बारे में कुर्द अधिकारियों के ग़ैर क़ानूनी प्रयासों की ओर संकेत करते हुए कहा कि ईरान और तुर्की, क्षेत्र की भौगोलिक सीमाओं में किसी भी प्रकार के परिवर्तन को स्वीकार नहीं करेंगे।

राष्ट्रपति हसन रूहानी ने यह बयान करते हुए कि ईरान और तुर्की का मानना है कि क्षेत्र में धार्मिक और जातीय मतभेद में वृद्धि और अलगाववाद, विदेशियों के प्रयासों का परिणाम है। उन्होंने कहा कि दोनों देशों का मानना है कि सीरिया और इराक़ को एकजुट बाक़ी रहना चाहिए।

डाक्टर हसन रूहानी ने इसी प्रकार ईरान और तुर्की के संबंधों की ओर भी संकेत करते हुए कहा कि दोनों सरकारें विभिन्न क्षेत्रों में संबंधों के विस्तार का इरादा रखती हैं। डाक्टर हसन रूहानी ने कहा कि ईरान और तुर्की के बीच व्यापारिक लेनदेन 30 अरब डाॅलर वार्षिक पहुंच जाएगा।

इस अवसर पर तुर्क राष्ट्रपति ने इराक़ी कुर्दिस्तान में हुए जनमत संग्रह के बारे में तुर्की और ईरान के समान दृष्टिकोण की ओर संकेत करते हुए कहा कि ईरान और तुर्की जनमत संग्रह को ग़ैर क़ानूनी समझते हैं।

TOPPOPULARRECENT