येरूशलम पर हमारी स्थिति से कोई समझौता नहीं करेंगे : एर्दोगन

येरूशलम पर हमारी स्थिति से कोई समझौता नहीं करेंगे : एर्दोगन

तुर्की के राष्ट्रपति रेसेप तईप एर्दोगन ने कहा कि तुर्की ने अमेरिका द्वारा येरुशलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने के निर्णय खारिज कर दिया है। यह बयान एर्दोगन ने मोहम्मद अब्देल अजीज़ के साथ एक संयुक्त सम्मेलन के दौरान दिया। उन्होंने ज़ोर देते हुए कहा कि येरूशलम फिलिस्तीन की राजधानी है और हम यरूशलेम की स्थिति पर कभी समझौता नहीं करेंगे जो हमने पहले ही घोषित कर दिया है।

तुर्की के अनुसार येरुशलम ईसाईयों के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है जितना मुसलमानों के लिए है। एर्दोगन ने कहा कि तेल अवीव से येरुशलम में अपने दूतावास को स्थानांतरित करने का अमेरिकी निर्णय किसी भी तरह से हमारे लिए स्वीकार्य नहीं है।

एर्दोगन ने यूनाइटेड नेशन में हुए मतदान को याद दिलाया और कहा कि येरुशलम के समर्थन में दुनिया भर के 128 देशों ने येरुशलम को फिलिस्तीन की राजधानी के रूप में मान्यता देने के लिए मतदान किया था जबकि अमेरिका के समर्थन में सिर्फ 9 देशों ने ही मतदान किया था। इससे साफ़ ज़ाहिर होता है पूरी दुनिया एक तरफ है और अमेरिका अकेला खड़ा है।

पिछले साल 6 दिसंबर को ट्रम्प ने येरुशलम को इजराइल की राजधानी के रूप में मान्यता देने की घोषणा की थी, इस फैसले से ना सिर्फ फिलिस्तीनी लोगों ने ट्रम्प का विरोध किया बल्कि दुनिया भर के देशों ने विरोध प्रदर्शन कर अपना गुस्सा ज़ाहिर किया था।

Top Stories