Friday , December 15 2017

मध्य प्रदेश: छेड़छाड़ के आरोप के बाद अब EVM ख़रीददारी में सामने आया करोड़ो का घोटाला

ईवीएम छेड़छाड़ मामले में एक नया मोड़ आया है। अब ईवीएम की खरीदी में कैग ने एक घोटाले से पर्दा उठाया है।

आरटीआई एक्टिविस्ट अजय दुबे ने मध्य प्रदेश इलेक्शन कमीशन और इसके कमिश्नर आर परशुराम पर 2013 में खरीदी गई मशीनों में वित्तीय घोटाले और अनियमित्ताओं का आरोप लगाया है।

दुबे के मुताबिक साल 2013 में स्टेट इलेक्शन कमीशन ने ईवीएम को खरीदने के दौरान नियमों के अनदेखी की और जरूरत से ज्यादा मशीने खरीदी।

दुबे के मुताबिक स्टेट इलेक्शन कमीशन ने 133 करोड़ रुपए में हैदराबाद की कंपनी इलेक्ट्रॉनिक कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड से ईवीएम खरीदी थी, जिसमें उन्होंने 29.82 करोड़ रुपए ज्यादा दिए।

ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि इलेक्शन कमिश्नर ने किसी और कंपनी से कोटेशन मंगवाए बिना सिर्फ एक ही कंपनी को मशीनों का टेंडर दे दिया।

स्टेट इलेक्शन कमीशन की इस हरकत पर कैग ने आपत्ति जताई थी और इस मामले में राज्य सरकार के जवाब को अमान्य करार दिया है।
लेकिन अभी तक इलेक्शन कमिश्नर पर राज्य सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की है।

TOPPOPULARRECENT