दाऊद का गुर्गा पाकिस्तान में बैठकर अमेरिका के नंबर से भाजपा विधायकों को दे रहा है धमकी, एसआईटी गठित

दाऊद का गुर्गा पाकिस्तान में बैठकर अमेरिका के नंबर से भाजपा विधायकों को दे रहा है धमकी, एसआईटी गठित
Click for full image

देश में भाजपा विधायकों को धमकी दिए जाने के मामले में सनसनीखेज खुलासा हुआ है। एसटीएफ की जांच में पता चला है कि भाजपा विधायकों को पाकिस्तान में बैठे डान दाऊद इब्राइिम का गुर्गा धमकियां दे रहा है। मंगलवार को 11 विधायकों को धमकी दिए जाने के बाद बुधवार को भी धमिकयां देने का सिलसिला जारी रहा। बुधवार को 11 और विधायकों को रंगदारी देने के लिए धमकाया गया। डीजीपी ने सभी जिलों के एसपी व डीएम को अलर्ट किया है।

अब तक 22 विधायकों, रामपुर के एक पूर्व मंत्री और तीन पदाधिकारियों को रंगदारी देने के लिए धमकी मिल चुकी है। बुधवार को जिन्हें धमकियां मिलीं, उनमें प्रमुख रूप से कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी, सिद्धार्थनगर इटवा के सतीश द्विवेदी, हरदोई के गोपामऊ से भाजपा विधायक श्याम प्रकाश, जालौन के कालपी से भाजपा विधायक नरेंद्र पाल सिंह, सरेनी रायबरेली के धीरेंद्र बहादुर सिंह व तिंदवारी बांदा के विधायक ब्रजेश प्रजापति, जालौन की माधौगढ़ सीट से भाजपा विधायक  मूलचंद निरंजन, कुर्सी से भाजपा विधायक साकेन्द्र वर्मा, अलीगंज, एटा के सत्यपाल सिंह राठौर, लखनऊ पश्चिम क्षेत्र के भाजपा विधायक सुरेश श्रीवास्तव, हरदोई के बालामऊ से भाजपा विधायक रामपाल वर्मा तथा रामपुर के भाजपा नेता व पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना के नाम शामिल हैं। एसटीएफ के एसएसपी अमिताभ यश ने बताया कि यूपी ही नहीं, ऐसी धमकियां राजस्थान में भी कुछ वीआईपी को दी गई हैं। इस मामले में यूपी पुलिस ने अब तक 12 मुकदमे दर्ज किए हैं।

मुख्यमंत्री ने दिए सख्त कार्रवाई के निर्देश
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने धमकी दिए जाने की इस घटना को गंभीरता से लेते हुए प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार और डीजीपी को जल्द से जल्द मामले का खुलासा करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि दोषियों के खिलाफ त्वरित व कड़ी कार्रवाई की जाए। इसी के बाद आनन-फानन में डीजीपी ओपी सिंह ने मामले की जांच के लिए आईजी एसटीएफ अमिताभ यश के नेतृत्व में एसआईटी गठित कर दी। कमेटी का सुपरविज़न एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार करेंगे। कमेटी में एसएसपी एटीएस जोगेंद्र सिंह और एसटीएफ के एएसपी अरविंद चतुर्वेदी को शामिल किया गया है।

केंद्रीय खुफिया एजेंसी भी लगाई गईं
धमकियों का सिलसिला बुधवार को भी जारी रहने के कारण यूपी पुलिस ने आईबी, रॉ और एनआईए से संपर्क किया है। तकनीकी मदद देने के लिए भारत सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय की टीम को भी लगाया गया है। प्रारंभिक पड़ताल में यह पता नहीं चल सका है कि क्या किसी खास वजह से धमकियां दी गईं या यह सुरक्षा एजेंसियों को परेशान करने की साजिश है।

 

पाकिस्तान से भेजा जा रहा है मैसेज
प्रारंभिक जांच में एसटीएफ ने खुलासा किया है कि धमकी जिस नंबर से दी जा रही है वह अमेरिका के टैक्सास का नंबर है। इसे किसी आईटी विशेषज्ञ ने वर्चुअल नंबर के रूप में तैयार किया है और पाकिस्तान की आईपी (इंटरनेट प्रोवाइडर) के सर्वर का इस्तेमाल किया जा रहा है। सुरक्षा एजेंसियों को इस बात पर आश्चर्य है कि कुछ विधायकों को मुंबई में भाड़े पर हुई एक हत्या के नाम पर डराया भी जा रहा है। यूपी के एडीजी कानून-व्यवस्था आनंद कुमार ने बताया कि विधायकों को धमकी दिए जाने का मामला बड़ी साजिश प्रतीत होता है। जिस आईडी से व्हाट्सएप किया जा रहा है, वह दाऊद के गुर्गे अली बुदेश भाई उर्फ अली बुदेश बाबा की है। वह दाऊद के लिए काम करता रहा है और  फिलहाल पाकिस्तान में है। सूत्रों ने बताया कि इस संबंध में केंद्रीय गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय को भी रिपोर्ट भेज दी गई है। इसमें सभी तकनीकी पहलुओं की जानकारी दी गई है।

लखनऊ के मड़ियांव व सआदतगंज थाने में दर्ज हुए मुकदमे
लखनऊ पश्चिम क्षेत्र के भाजपा विधायक सुरेश श्रीवास्तव ने देर रात सआदतगंज कोतवाली और हरदोई के बालामऊ से भाजपा विधायक रामपाल वर्मा ने मड़ियांव थाने में एफआईआर दर्ज कराई। रामपाल वर्मा लखनऊ में मड़ियांव के मुतक्कीपुर के रहने वाले हैं। उन्हें दो दिन तक लगातार मेसेज आये थे।

 

विधायकों ने प्रमुख सचिव गृह से की शिकायत
धमकियां मिलने के बाद भाजपा विधायक प्रमुख सचिव गृह से लगातार शिकायत कर रहे हैं। बुधवार को भी दो विधायकों ब्रजेश प्रजापति और धीरेंद्र बहादुर सिंह ने प्रमुख सचिव गृह से मुलाकात कर पूरा किस्सा बयान किया। प्रमुख सचिव ने उनकी शिकायतें डीजीपी ओपी सिंह के पास भेज दी हैं। साथ ही भरोसा दिलाया है कि जिलों के एसपी व डीएम उनकी सुरक्षा का पूरा ख्याल रखेंगे।

रामपुर में पूर्व मंत्री को मिली धमकी
रामपुर में भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री शिव बहादुर सक्सेना को भी धमकी मिली है। उन्हें धमकी व्हाट्सएप पर 19 मई को 11:55 बजे मिली, जिसे उन्हें आज ही चेक किया। उन्होंने बताया कि रंगदारी मांगी गई है, न देने पर जान से मारने की धमकी दी गई है। इस मामले में एसपी और डीएम को अवगत करा दिया गया है।

Top Stories