Thursday , December 14 2017

नकली जाति प्रमाणपत्र से नौकरी हासिल करने वालों की अब खैर नहीं!

देश में अनुसूचित या पिछड़ी जाति के फर्जी प्रमाणपत्र के साथ जॉब पाने वालों की अब खैर नहीं। इन लोगों पर सरकार कड़ी कार्रवाई करने की के मूड में है। इस मामले में केंद्र सरकार ने सभी विभागों और मंत्रालयों से ऐसी भर्तियों का ब्योरा माँगा है।

सरकार ने ऐसे लोगों को नौकरी से बर्खास्त किए जाने का फैसला किया है। दरअसल हाल ही में सरकारी आंकड़ों से इस बात का खुलासा हुआ था कि 1800 से अधिक लोगों ने कथित रूप से फर्जी जाति प्रमाणपत्र के साथ नियुक्ति पाई है।

इनमें से ज्यादातर लोग सरकारी बैकों या फिर बीमा कंपनियों में कार्यरत हैं।

बता दें कि नियमानुसार अगर कोई शख्स गलत जानकारी या फिर फर्जी दस्तावेज के जरिए नौकरी हासिल करता है तो उसे नौकरी से निकाल दिए जाने का प्रावधान है।

कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग ने हाल ही में जारी निर्देश में कहा है, ‘अगर नियुक्ति कर रहे संस्थान को यह पता चलता है कि कर्मचारी ने फर्जी या झूठा जाति प्रमाणपत्र जमा कराया, तब संबंधित सेवा नियमों के प्रावधानों के तहत ऐसे कर्मचारी को नौकरी से हटाने की प्रक्रिया शुरू की जानी चाहिए।’

इस साल 29 मार्च को बताया था कि 1,832 लोगों ने फर्जी जाति प्रमाणपत्र के आधार पर नौकरी हासिल की है। इनमें से 276 को निलंबित या बर्खास्त कर दिया गया है, 521 पर मुकदमा चल रहा है और 1,035 के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई लंबित है।

 

TOPPOPULARRECENT