VIDEO- नोएडा में फर्जी एनकाउंटर, चार पुलिसकर्मी सस्पेंड, 48 घंटों में 15 एनकाउंटर पर उठे सवाल

VIDEO- नोएडा में फर्जी एनकाउंटर, चार पुलिसकर्मी सस्पेंड, 48 घंटों में 15 एनकाउंटर पर उठे सवाल

योगी सरकार की पुलिस  सवालों के घेरे में हैं । यूपी पुलिस ने एक फेक एनकाउंटर में जितेन्द्र यादव नाम के शख्स को गोली मारी है। जिससे की पुलिस पर शख्स को फर्जी मुठभेड़ का आरोप लगा है। यह आरोप जितेन्द्र यादव  के परिवार वालों ने लगाया है ।  समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक शनिवार (3 फरवरी) रात को नोएडा के सेक्टर 122 के पास जितेन्द्र यादव को गोली मारी गई थी। जितेन्द्र यादव को घायल अवस्था में नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया है।जितेन्द्र यादव के परिवार वालों का कहना है कि यूपी पुलिस ने एक फेक एनकाउंटर में उसे गोली मारी है। परिवार कहना है कि उसे उसकी जाति की वजह से गोली मारी गई।

Noida Fake Encounter Case

Posted by Pankhuri Pathak on Saturday, February 3, 2018

अस्पताल के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है। वही समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक ने विडियो पोस्ट कर यूपी पुलिस पर प्रमोशन के लिए बेगुनाहों को गोली मारने का आरोप लगाया है। पंखुड़ी पाठक ने ट्वीट  भी किया है जिसमे उन्होंने कहा , ‘जितेन्द्र यादव नाम के एक बेगुनाह को गर्दन में गोली लगी है, ये यूपी पुलिस की नोएडा में असफल मुठभेड़ की कोशिश है, यूपी सरकार इस मुद्दे को मीडिया से दूर रखने की कोशिश कर रही है। शख्स नोएडा के फोर्टिस अस्पताल में जिंदगी की जंग लड़ रहा है, यूपी पुलिस के अधिकारी प्रमोशन के लिए निर्दोष लोगों का एनकाउंटर कर रहे हैं।’

समाजवादी पार्टी की नेता द्वारा ट्वीट किये जाने के बाद यूपी पुलिस ने जवाब दिया है। यूपी पुलिस ने ट्वीट किया है कि इस बारे में नोएडा पुलिस से जानकारी ली जा रही है। नोएडा के एसएसपी के मुताबिक ये एनकाउंटर का मामला नहीं है। मामले में एक सब-इंस्पेक्टर के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर लिया गया है और उसे गिरफ्तार किया गया है। मामले में कुल चार पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया गया है।

बता दें कि यूपी पुलिस ने पिछले 48 घंटों में 15 एनकाउंटर किये हैं। पुलिस ने इन मुठभेड़ों में एक बदमाश को मार गिराने और 24 वांछित अपराधियों को पकड़ने का दावा किया है।

Top Stories