किसान आन्दोलन को पूर्व खिलाड़ियों का समर्थन: लौटायेंगे अवार्ड

, ,

   

समाज के विभिन्न वर्गों के बाद अब पद्मश्री और अर्जुन अवार्डी समेत कई पूर्व खिलाड़ी भी आंदोलनकारी किसानों से समर्थन में उतर आए हैं।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, खिलाड़ियों ने दिल्ली कूच के दौरान किसानों पर बल प्रयोग के विरोध में अपने अवार्ड केंद्र सरकार को लौटाने का एलान किया है।

पद्मश्री व अर्जुन अवार्डी पहलवान करतार सिंह, अर्जुन अवार्डी बास्केटबाल खिलाड़ी सज्जन सिंह चीमा और हाकी खिलाड़ी राजबीर कौर ने घोषणा की है कि वह 5 दिसंबर को दिल्ली जाएंगे और अपने अवार्ड राष्ट्रपति भवन के बाहर छोड़ आएंगे।

उन्होंने दिल्ली जा रहे किसानों को रोकने के लिए केंद्र और हरियाणा सरकार द्वारा वाटर केनन व आंसू गैस का इस्तेमाल किए जाने की कड़ी निंदा की।

सज्जन सिंह चीमा ने कहा कि हम किसानों के बच्चे हैं। किसान कई महीने से शांतिपूर्ण विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। इस दौरान हिंसा की एक भी घटना सामने नहीं आई है।

इसके बावजूद दिल्ली जाते समय किसानों पर वाटर कैनन और आंसु गैस के गोलों का इस्तेमाल किया गया।

चीमा ने कहा कि अगर हमारे बुजुर्गों और भाइयों की पगड़ी ऐसे उछाली जाएंगी तो ऐसे पुरस्कार और अवार्ड रखकर क्या करेंगे? किसानों को हमारा पूरा समर्थन है।

हमें ऐसे अवार्ड नहीं चाहिए और इसीलिए हम इन्हें लौटाने जा रहे हैं। 

उन्होंने बताया कि वह हरियाणा में भी पूर्व खिलाड़ियों से संपर्क कर रहे हैं और वे भी किसान आंदोलन के समर्थन में आगे आएंगे।

उन्होंने बताया कि अनेक खिलाड़ी जिनमें राजबीर कौर और अर्जुन अवार्ड प्राप्त शाटपुट खिलाड़ी बलविंदर सिंह भी शामिल हैं, उनके साथ किसान आंदोलन के समर्थन में आगे आए हैं।