Monday , August 20 2018

भारतीय मूल की सांसद नुसरत ने रचा इतिहास, ब्रिटिश संसद को संबोधित करने वाली पहली मुस्लिम मंत्री

ब्रिटेन में भारतीय मूल की 45 वर्षीय सांसद नुसरत गनी ब्रिटिश संसद को संबोधित करने वाली पहली मुस्लिम महिला मंत्री बन गई हैं। नुसरत गनी का जन्म बर्मिंघम में हुआ था। उनके माता-पिता पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से यहां आकर बस गए थे। गनी ने कनिष्ठ (जूनियर) परिवहन मंत्री के रूप में जैसे ही हाउस ऑफ कॉमन्स (निचले सदम) को संबोधित किया, गनी के साथियों ने उनका तालियों के साथ जोरदार स्वागत किया।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

उन्होंने हाउस ऑफ कॉमन्स में अपने पहले संबोधन के तुरंत बाद ट्वीट कर कहा, ‘ब्रिटेन सरकार में परिवहन मंत्री के रूप में मेरा डेब्यू हो गया है और इतिहास रचते हुए हाउस ऑफ कॉमन्स डिस्पैच बॉक्स में बोलने वाली पहली महिला मुस्लिम मंत्री भी बन गई हूं।’

बता दें कि डिस्पैच बॉक्स नामित जगह है जहां मंत्री खड़े होकर कॉमन्स में बोलते हैं। ब्रिटिश प्रधानमंत्री थेरेसा मे ने पिछले हफ्ते अपने नए साल के फेरबदल के तहत 45 वर्षीय नुसरत गनी को परिवहन विभाग में संसदीय अवर सचिव के तौर पर नियुक्त किया है।

गनी ने अपने बयान में कहा, ‘रोमांचक और चुनौतीपूर्ण भूमिकाओं का अवसर है। वेल्डेन से सासंद के रूप में चुने जाने के बाद से मैंने परिवहन के विषय में प्रचार किया है।
मेरी मंत्री के रूप में कर्तव्यों के अलावा, वेल्डन के लिए मेरी मजबूत आवाज जारी रहेगी और अपने क्षेत्र के लिए हमेशा काम करती रहूंगी।’

– नुसरत गनी (45) ने 2010 के आम चुनाव में बर्मिंघम से कंजर्वेटिव पार्टी के उम्मीदवार के रूप में खड़ी हुईं।

– उससे पहले गनी ने कई चैरिटी की और बीबीसी वर्ल्ड सर्विस के लिए भी काम किया।

– गनी ने ऐज यूके और ब्रेस्ट कैंसर के लिए चैरिटी भी की है।

– गनी 2015 से कंजर्वेटिव पार्टी की ओर से वेल्डेन से सांसद नियुक्त हुईं।

– 2015 में वे संसद के लिए चुने जाने वाले पहले कंजर्वेटिव पार्टी की मुस्लिम महिला उम्मीदवार बनीं।

– जून 2017 के आकस्मिक चुनाव के बाद, उन्होंने संसद में उर्दू में शपथ ग्रहण करके इतिहास रचा।

 

साभार- दैनिक जागरण

TOPPOPULARRECENT