Saturday , September 22 2018

VIDEO: सऊदी अरब के प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान का पुरा इंटरव्यू, क्यों कहा- ‘मैं गरीब नहीं, अमीर हूं’

सऊदी अरब में महिलाओं को गाड़ी चलाने, फुटबॉल मैच देखने और सेना में भर्ती होने जैसे तमाम अधिकार देने वाले सऊदी अरब के शहजादे मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि महिलाएं निश्चित ही पूरी तरह से पुरुषों के समान हैं। सलमान सोमवार को अमेरिका पहुंचने वाले हैं। वह राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात करेंगे। साथ ही वह कई अमेरिकी शहरों की यात्रा भी करेंगे।

सीबीएस समाचार कार्यक्रम ’60 मिनट’ ने रविवार को प्रिंस और सऊदी अरब को आगे ले जाने की उनकी उम्मीदों को लेकर एक एपिसोड प्रसारित किया। शहजादे मोहम्मद बिन सलमान से जब पूछा गया कि महिलाएं, पुरुषों के समान हैं तो क्राउन प्रिंस ने कहा, बिलकुल। हम सभी इंसान हैं और हममें कोई अंतर नहीं है।

खबरों के मुताबिक, उन्होंने माना कि सऊदी अरब में इस्लाम के अतिरूढ़िवादी रूप का प्रभुत्व है, जो गैर मुस्लिमों के अनुकूल नहीं है, मूल अधिकारों से महिलाओं को वंचित करता है और सामाजिक जीवन को संकीर्ण करता है। उन्होंने 1979 के बाद सऊदी अरब में फैले रूढ़िवाद के बारे में कहा, हम पीड़ित हैं, विशेषकर मेरी पीढ़ी जो इससे जूझ रही है।

युवा बिन सलमान ने शासन संभालते ही महिलाओं के परिधानों पर प्रतिंबधों में छूट दी, कामकाज में उनकी भूमिका को विस्तार दिया। उन्होंने कहा कि सरकार समान भुगतान सुनिश्चित करने के लिए नीतियों पर कार्य कर रही है। महिलाओं को गाड़ी चलाने की भी इजाजत दी गई है। यह आदेश जून से प्रभावी होगा।

भ्रष्टाचार के खिलाफ हाल में कई राजकुमारों पर कड़ी कार्रवाई करने वाले राजकुमार बिन सलमान अपने शाही खर्च के लिए आलोचना का सामना करते रहते हैं। उनका कहना है कि ‘उनका निजी खर्च उनका व्यापार है।’ न्यूयार्क टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार हाल ही में उन्होंने 45 करोड़ डालर में एक पेंटिंग खरीदी है।

उनका कहना है, जहां तक मेरे निजी खर्च का सवाल है तो मैं एक अमीर आदमी हूं, गरीब नहीं। मैं कोई गांधी या मंडेला नहीं हूं।

TOPPOPULARRECENT