Saturday , April 21 2018

गेल ने बीच मैदान मांगी ड्वेन ब्रावो से मदद, खेल भावना से जीता लोगों का दिल

वेस्टइंडीज के धुरंधर खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो ने मोहाली में खेले गए मैच के दौरान अपनी खेल भावना से दर्शकों का दिल जीत लिया। दरअसल, किंग्स इलेवन पंजाब की पारी की शुरुआत करने जब यूनिवर्स बॉस कहे जाने वाले क्रिस गेल अपने जोड़ीदार लोकेश राहुल के साथ क्रीज पर आए तो उनके जूते का फीता खुल गया।

इसके बाद गेल ने विपक्षी टीम सीएसके के लिए खेल रहे अपने हमवतन ड्वेन ब्रावो को बताया कि उनके जूते का फीता खुल गया है, तो ब्रावो ने तुरंत गेल की मदद करते हुए उनके जूते के फीते बांधे। ब्रावो की इस खेल भावना ने सभी क्रिकेट फैंस और एक्सपर्ट्स का दिल जीत लिया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

हालांकि क्रिस गेल ने अपने हमवतन ब्रावो से मदद लेने के बाद उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स पर जरा भी रहम नहीं किया। गेल ने 190 के स्ट्राइक रेट से खेली गई अपनी पारी में 7 चौके और 4 छक्के लगाए। आपको बता दें कि यह गेल का इस सीजन किंग्स इलेवन पंजाब के लिए पहला मैच था। इससे पहले उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ मैच में नहीं खिलाया गया था।

हालांकि क्रिस गेल ने अपने हमवतन ब्रावो से मदद लेने के बाद उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स पर जरा भी रहम नहीं किया। गेल ने 190 के स्ट्राइक रेट से खेली गई अपनी पारी में 7 चौके और 4 छक्के लगाए। आपको बता दें कि यह गेल का इस सीजन किंग्स इलेवन पंजाब के लिए पहला मैच था। इससे पहले उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ मैच में नहीं खिलाया गया था।

हालांकि क्रिस गेल ने अपने हमवतन ब्रावो से मदद लेने के बाद उनकी टीम चेन्नई सुपर किंग्स पर जरा भी रहम नहीं किया। गेल ने 190 के स्ट्राइक रेट से खेली गई अपनी पारी में 7 चौके और 4 छक्के लगाए। आपको बता दें कि यह गेल का इस सीजन किंग्स इलेवन पंजाब के लिए पहला मैच था। इससे पहले उन्हें दिल्ली डेयरडेविल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के खिलाफ मैच में नहीं खिलाया गया था।

https://www.jansatta.com/khel/ipl-2018-csk-vs-kxip-chris-gayle-call-his-friend-swayne-bravo-dor-tieng-his-shoes-lace/632704/

बता दें कि रविवार को आईपीएल 11 में खेले गए दूसरे मुकाबले में किग्स इलेवन पंजाब ने चेन्नई सुपर किंग्स को 4 रनों से मात देकर टूर्नामेंट में अपनी दूसरी जीत दर्ज की। गेल की तूफानी बल्लेबाजी के चलते पंजाब की टीम ने चेन्नई के सामने 198 रनों का विशाल लक्ष्य रखा। इस लक्ष्य का पीछे करने उतरी महेंद्र सिंह धोनी ती टीम 20 ओवरों में केवल 193 रन ही बना सकी।

TOPPOPULARRECENT