Thursday , July 19 2018

गौरी लंकेश मर्डर में स्कॉटलैंड पुलिस जांच में SIT की मदद करेगी, 2 अधिकारी पहुंचे बेंगलुरु

स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस वरिष्ठ पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या मामले की जांच में कर्नाटक SIT (स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम) की मदद करेगी ।स्कॉटलैंड पुलिस के 2 अफसर बेंगलुरू पहुंच चुके हैं। 5 सितंबर को गौरी लंकेश की उनके घर के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक स्कॉटलैंड पुलिस हमलावरों के सुराग ढूंढने में एसआईटी की मदद करेगी। कर्नाटक एसआईटी ने स्कॉटलैंड यार्ड पुलिस से इस मामले की जांच में मदद मांगी थी क्योंकि उसके पास CCTV फुटेज में दिख रहे हमलावरों की पहचान करने के लिए बेहतर इक्विपमेंट हैं।

स्कॉटलैंड पुलिस हत्या में इस्तेमाल हथियार का भी पता लगाएगी। एसआईटी इस मामले में नक्सल लिंक की भी जांच कर रही है क्योंकि गौरी लंकेश ने चिकमंगलूर पुलिस के सामने 4 नक्सलियों का सरेंडर कराने में मदद की थी।

एसआईटी की टीम हथियारों की तस्करी से जुड़े हिस्ट्रीशीटर्स से भी पूछताछ कर रही है। कुनीगल रवि नाम के हिस्ट्रीशीटर से शुक्रवार को एसआईटी ने अपने ऑफिस में पूछताछ की। रवि एक क्रिमिनल केस में जेल में बंद था। वह हाल में जमानत पर बाहर आया था। रवि का नाम इस मामले में मीडिया रिपोर्ट्स में सामने आया था।
एडीशनल डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस (CID) सीएच प्रताप रेड्डी ने मीडिया से बातचीत में कहा, “सीआईडी यह साबित करने में कामयाब रही है कि पंसारे, दाभोलकर और कलबुर्गी की हत्या में एक ही तरह की पिस्टल का इस्तेमाल किया गया था। तीनों मामलों में हत्या का तरीका एक ही था।

हत्यारे बाइक पर आए और वारदात करने के बाद फरार हो गए। यही तरीका गौरी लंकेश में भी आजमाया गया। हत्यारे बाइक पर आए और उन्हें गोली मारकर भाग निकले। हालांकि अभी ये कहना जल्दबाजी होगी कि गौरी लंकेश के मामले में उसी गैंग का हाथ है, जिसने कलबुर्गी को मारा।”

TOPPOPULARRECENT