Thursday , November 23 2017
Home / Khaas Khabar / गोरखपुर हादसा: मार्च में ही ख़त्म हो गया था BRD अस्पताल का ऑक्सीजन सप्लाई कॉन्ट्रेक्ट

गोरखपुर हादसा: मार्च में ही ख़त्म हो गया था BRD अस्पताल का ऑक्सीजन सप्लाई कॉन्ट्रेक्ट

गोरखपुर के बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है । ऑक्सीजन की सप्लाई करने वाली फर्म का कहना है कि अस्पताल को ऑक्सीजन की सप्लाई का कॉन्ट्रेक्ट मार्च में ही ख़त्म हो गया था. उसके बाद कॉन्ट्रेक्ट को रिन्यू नहीं किया गया.

बीआरडी अस्पताल को ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी पुष्पा सेल्स के मालिक प्रवीण मोदी ने साफ तौर पर सप्लाई के किसी टेंडर से इनकार कर दिया.उन्होंने मीडिया को बताया कि अस्पताल के साथ कॉन्ट्रेक्ट मार्च में ही खत्म हो गया था और इसे फिर से रिन्यू नहीं किया गया.

कंपनी के मालिक ने कहाकि जब तक नए टेंडर की औपचारिकताएं पूरी नहीं हो जातीं, तब तक सप्लायर को बिना किसी रुकावट के इसे जारी रखने के लिए कहा जाता है, लेकिन इस मामले में ऐसा नहीं किया गया. हालांकि मैंने मानवता के नाते ऑक्सीजन की सप्लाई बंद नहीं की ।

इस साल भाजपा सरकार आने के बाद पुष्पा सेल्स से कॉन्ट्रेक्ट खत्म कर दिया गया और नया कॉन्ट्रेक्ट इलाहाबाद के इंपीरियल गैस के साथ किया गया. प्रवीण ने कहा कि अस्पताल पर अभी तक 20 लाख रुपए बकाया है, इसके बावजूद कमीशनर की अपील प शुक्रवार को लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई की.वो कहते हैं कि मैंने किसी बकाए के लिए ऑक्सीजन सप्लाई नहीं रोकी है ।

इतना ही नहीं केंद्रीय ऑक्सीजन पाइपलाइन संयंत्र के स्टाफ ने अस्पताल के बाल चिकित्सा विभाग के प्रमुख को ऑक्सीजन स्टॉक के बारे में चेतावनी दी थी । उन्होंने लिखा था कि ऑक्सीजन की कमी के कारण अस्पताल में विभिन्न वार्डों में भर्ती मरीजों और खासकर बच्चों को परेशानी हो सकती है. लेकिन चेतावनी को अनसुना कर दिया गया और ऑक्सीजन की कोई व्यवस्था नहीं की गई जिसका नतीजा सबके सामने है ।

TOPPOPULARRECENT