Sunday , November 19 2017
Home / Khaas Khabar / गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन ठप होने से 30 बच्चों की मौत

गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में ऑक्सीजन ठप होने से 30 बच्चों की मौत

गोरखपुर से एक बड़ी दर्दनाक खबर आ रही है। ज़िले के बीआरडी मेडिकल कालेज में आईसीयू और इंसेफलाइटिस के मरीजों के लिए बनाए गए वार्ड में आक्सीजन सप्लाई ठप होने से 30 बच्चों की मौत हो गई हैं।

मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल के आईसीयू और दूसरे वार्डों में गुरुवार रात 11.30 बजे से ही ऑक्सीजन सप्लाई गड़बड़ा गई थी जो शुक्रवार सुबह 9 बजे तक लगातार रुकती रही। कई घंटे तक लगातार ऑक्सीजन की सप्लाई बीच-बीच में रुकते रहने से 30 जानें चली गईं। गोरखपुर के डीएम राजीव रौतेला ने इंसेफलाइटिस से 30 बच्चों की मौत की बात कही है।

बीआरडी मेडिकल कॉलेज में दो साल पहले ही लिक्विड ऑक्सीजन का प्लांट लगाया गया। इसके जरिए वार्ड 6, 10, 12, 14 और 100 बेड इंसेफेलाइटिस वार्ड में मरीजों को ऑक्सीजन दी जाती है। आपूर्ति करने वाली फर्म पुष्पा सेल्स के अधिकारी दिपांकर शर्मा ने करीब 64 लाख रुपए बकाया होने पर आपूर्ति ठप करने की सूचना दो दिन पहले प्रिंसिपल को दे दी थी।

गुरुवार को सेंटर पाइप लाइन ऑपरेटर ने प्रिंसिपल, एसआईसी, एचओडी एनेस्थिसिया, इंसेफेलाइटिस वार्ड के नोडल अधिकारी को पत्र के जरिए दोबारा लिक्विड ऑक्सीजन सप्लाई का स्टॉक बेहद कम होने की जानकारी दी।

इन तमाम जानकारियों और ऑक्सीजन सप्लाई रूकने की बात पहले से पता चल जाने के बावजूद इसके पूर्ति सुचारू रहे इसके लिए कोई इंतजाम नहीं किया गया। इसका नतीजा ये हुआ कि शुक्रवार सुबह तक बीआरडी मेडिकल कॉलेज में कई जानें चली गईं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर से सांसद भी हैं। इस घटना के बाद अस्पताल में कोहराम मच गया है । ऑक्सीजन कंपनी का अस्पताल पर 64 लाख रुपये बकाया थे।

TOPPOPULARRECENT