Monday , April 23 2018

उत्तर प्रदेश : सरकार ने सांप्रदायिक तनाव के कारण हुए पलायन पर रिपोर्ट मांगी

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर सांप्रदायिक तनाव के कारण जिलों से पलायन का मुद्दा उठा है। इस मामले में सरकार ने डीजीपी और डिविजनल कमिश्नर्स को खत लिखकर इस बारे में जानकारी मांगी। रिपोर्ट देने के लिए एक हफ्ते का समय दिया गया है। बता दें कि यह मुद्दा साल 2016 में भी उठाया जा चुका है।

सरकार ने सख्ती दिखाते हुए सीनियर अधिकारियों को इस बारे में 20 जून, 2017 को भी निर्देश दिए जाने के बावजूद गंभीरता से नहीं लेने के लिए फटकार लगाई है। पत्र में लिखा है, ‘जो जानकारी इस मामले में दी गई थी, वह मीडिया रिपोर्ट्स या इलाके के लोगों की भावनाओं से मेल नहीं खाती, खासकर पश्चिम यूपी में जहां से पलायन की खबरें आई थीं।’

डिविजनल कमिश्नर (मेरठ) प्रभात कुमार ने बताया, ‘हमें पत्र मिल गया है लेकिन इस तरह की जानकारी मांगा जाना रूटीन है और हमने इसे डीएम और अन्य संबंधित विभागों को भेज दिया है।’ वहीं, मेरठ के एसएसपी मंजिल सैनी ने बताया कि यह पुराना मामला है और क्योंकि तब जानकारी नहीं दी गई थी, इसलिए नया पत्र भेजा गया है। इससे पहले यह मुद्दा कैराना के दिवंगत सांसद हुकुम सिंह ने जून 2016 में उठाया था।

TOPPOPULARRECENT