Friday , January 19 2018

रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे पर जमात-ए-इस्लामी हिन्द ने मोदी सरकार की बड़ी मांग

नई दिल्ली: जमाते इस्लामी के मासिक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए अमीरे जमाते इस्लामी हिन्द मोलाना सैयद जलालुद्दीन उमरी ने कहा कि जमीयत चाहती है कि भारत सरकार म्यांमार के बेबस रोहिंग्या मुसलमानों की मदद के लिए अधिक सार्थक भूमिका निभाए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

भारत सरकार रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दों और स्थितियों पर बर्मा की सरकार से बातचीत करे और बर्मी सरकार पर दबाव बनाए कि वह रोहिंग्या मुसलमानों के संवैधानिक और नागरिक अधिकारों को बहाल करे। मौलाना उमरी ने कहा कि हम भारत सरकार से अपील करते हैं कि जो रोहिंग्याई मुसलमान भारत में शरणार्थी हैं, उन्हें भारत सरकार शरणार्थियों की हैसियत से उस अवधि तक यहां रहने दें जब तक म्यांमार में उनके संवैधानिक और नागरिक अधिकार बहाल नहीं हो जाते।

उन्होंने कहा कि हम अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील करते हैं कि वे इन पीड़ितों की आवास, भोजन और अन्य जरूरतों को पूरा करने के लिए आगे आएं और जहां तक ​​संभव हो इनका वित्तपोषण करें।

TOPPOPULARRECENT