कश्मीर में आतंकवाद के लिए नौजवानों को पर्याप्त मौका नहीं मिल रहा है- गर्वनर सत्यपाल मलिक

कश्मीर में आतंकवाद के लिए नौजवानों को पर्याप्त मौका नहीं मिल रहा है- गर्वनर सत्यपाल मलिक

राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कहा कि उनकी सरकार रियासत से आतंकवाद का खात्मा करना चाहती है। आतंकवाद की वजह से रियासत के विकास में बाधा पहुंची है, और युवाओं को तरक्की करने के पर्याप्त मौके इस वजह से नहीं मिल पाए हैं।
विज्ञापन

राज्यपाल ने गुरुवार को लेह एसईसीएमओएल के 30वीं जयंती समारोह में यह बात कही। राज्यपाल बनने के बाद लेह के अपने पहले दौरे के दौरान मलिक ने एसईसीएमओएल के 30वीं जयंती समारोह में भी शिरकत करते हुए संगठन को स्थापित करने के लिए सोनम वांगचुक के प्रयास को भी सराहा।

उन्होंने कहा कि आतंकवादियों के बजाय आतंकवाद को मारना बेहद जरूरी है। ऐसे में उनकी सरकार युवाओं का विश्वास जीतने की दिशा में काम कर रही है।

उन्होंने कहा कि कश्मीर के युवाओं में खेलों खासतौर से क्रिकेट और फुटबाल के प्रति काफी उत्साह है और उनमें प्रतिभा की भी कोई कमी नहीं है। उनकी सरकार घाटी में अंतरराष्ट्रीय स्टेडियमों का निर्माण कराएगी ताकि युवाओं को प्रतिभा का प्रदर्शन करने का पूरा मौका मिले।

उन्होंने कहा कि बातचीत लायक माहौल पैदा करने की भी कोशिश की जा रही है ताकि कश्मीर के मसले का हल हो सके। इस दौरान राज्यपाल की मौजूदगी में फेयांग में विश्वविद्यालय के लिए वित्तीय सहायता मुहैया कराने के लिए जेएंडके बैंक और हिमालयन इंस्टीट्यूट आफ अल्टरनेटिव्स लद्दाख के मध्य एमओयू भी साइन किया गया।

इसके पश्चात विभिन्न प्रतिनिधिमंडलों ने भी राज्यपाल से मुलाकात कर उन्हें लद्दाख संभाग से संबंधित मुद्दे दर्शाए। राज्यपाल ने आश्वासन दिया कि मांगों पर गौर किया जाएगा ताकि जन आकांक्षाओं को पूरा किया जा सकें।

Top Stories