GST में बदलाव को चुनाव से जोड़कर देखना सही नहीं- अरुण जेटली

GST में बदलाव को चुनाव से जोड़कर देखना सही नहीं- अरुण जेटली
Click for full image

नई दिल्ली। वित्त मंत्री अरुण जेतली ने कहा कि जीएसटी दर युक्तिसंगत बनाने के निर्णय को चुनाव या किसी राजनीतिक मांग से जोडऩा बचकानी राजनीति है।वित्त मंत्री ने जीएसटी के तहत एकल कर दर को खारिज किया।

जेटली ने एकल कर दर की कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की मांग को खारिज करते हुए कहा कि दर को और युक्तिसंगत बनाए जाने की गुंजाइश है लेकिन इसके बारे में कोई भी फैसला माल व सेवा कर (जीएसटी) से आने वाले राजस्व पर निर्भर करेगा।

सरकार ने इस नई अप्रत्यक्ष कर प्रणाली का कार्यान्वयन जुलाई में किया था। जेटली ने कहा, ‘यह युक्तिसंगत बनाए जाने की प्रक्रिया 3-4 महीने की है। जीएसटी परिषद ने दर में कटौती का फैसला दर तय करने वाली फिटमेंट समिति क सिफारिश पर किया है।

उन्होंने कहा कि जीएसटी परिषद के फैसले ‘पूरी सहमति से किए गए निर्णय’ हैं। इसे किसी चुनाव या राजनीतिक मांग से जोडऩा वास्तव में ‘बचकानी राजनीति’ है।

Top Stories