Thursday , December 14 2017

VIDEO: गुरुग्राम के हॉस्पिटल ने 15 दिन में डेंगू इलाज के नाम पर लिए 16 लाख रुपये, फिर भी नहीं बची जान

नई दिल्ली। कहते हैं बेटियां कुदरत का सबसे बड़ा उपहार होती हैं लेकिन एक लुटेरे अस्पताल ने एक पिता से उसकी बेटी का साथ छीन लिया है। ह्रदय को कचोटने वाली ये खबर जितनी दर्दनाक है उससे कहीं ज्यादा हैरान खबर क्रूर अस्पतालों का वो चेहरा है जिसके चंगुल में हर रोज ना जाने कितने लोग फंसते हैं।

इंडिया टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक 7 साल की छोटी और मासूम सी बच्ची आद्या को डेंगू हुआ था। पिता ने अपनी फूल सी बेटी के इलाज में कोई कमी नहीं की और गुरुग्राम के बड़े अस्पताल में उसे एडमिट कराया।

इस उम्मीद में कि वो बड़ा अस्पताल उनकी बेटी को पूरी तरह ठीक कर देगा लेकिन उन्हें क्या पता था कि हॉस्पिटल में इलाज नहीं बल्कि लूट होती है। महज 15 दिन में ही अस्पताल ने 16 लाख से ज्यादा का बिल थमा दिया लेकिन आद्या की जान नहीं बच सकी।

अस्पताल का दावा है कि सिर्फ 15 दिन में आद्या के लिए पंद्रह सौ ग्लब्स लगाए गए। करीब 600 सीरिंज लगाई जो समझ से परे है जिसपर आद्या के पिता भी सवाल उठा रहे हैं।

15 दिन में 1500 ग्लब्स का मतलब है कि हर दिन 100 ग्लब्स यानि हर एक घंटे में 4 ग्लब्स। मासूम बच्ची के पिता जयंत सिंह का कहना है कि उनकी बेटी की हालत बेहद खराब थी।

31 अगस्त को एडमिट कराने के बाद से ही वो उसके एमआरआई की मांग कर रहे थे लेकिन अस्पताल ने उनकी नहीं सुनी और बिल बढाते गए।

TOPPOPULARRECENT