Sunday , February 25 2018

हज सब्सिडी मामला: देश के मुसलमानों के मशवरे पर अमल किया जाएगा: मुख़्तार अब्बास नकवी

सुप्रीम कोर्ट की हिदायत पर मोदी सरकार की ओर से हज सब्सिडी समाप्त किये जाने पर जिस तरह के सकरात्मक बयान और मशवरे आये हैं उस पर केन्द्रीय अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख़्तार अब्बास नकवी ने ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए भारतीय मुसलमानों का शुक्रिया अदा किया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने कहा कि सब्सिडी के बगैर सस्ता हज कराया जाएगा, और ग्लोबल टेंडर वाले मशवरे पर अम्ल किया जाएगा। इंक़लाब के अनुसार मिस्टर नकवी ने कहा कि सब्सिडी का फायदा हज यात्रियों को नहीं मिलता था। बल्कि बिचोलिये और कुछ कंपनियों को मिलता था।

उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक मंत्रालय पहले ही अल्पसंख्यकों कलयाण के लिए सरगर्म है, लेकिन अब जो हज सब्सिडी के पैसे हैं वह भी मिल्लत के नौजवानों और छात्रों को मज़बूत करने और उन्हें बा रोज़गार बनाने में खर्च किये जायेंगे।

गौरतलब है कि पहले हज सब्सिडी लगभग 836 करोड़ रुपये थी, लेकिन मौजूदा समय में 250 करोड़ रूपए ही बची थी। क्योंकि 2012 के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक सब्सिडी धीरे धीरे समाप्त की जा रही थी।

TOPPOPULARRECENT