Thursday , July 19 2018

अमेरिकी हितों की सुरक्षा के लिए कट्टर इस्लाम को बढ़ावा दिया गया: प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान

वाशिंगटन: सऊदी अरब के राजकुमार मोहम्मद बिन सलमान ने स्वीकारते हुए कहा कि शीत युद्ध के दौर में रूस का मुकाबला करने के लिए पश्चिम के कहने पर कट्टर इस्लाम को बढ़ावा दिया गया। विवरण के मुताबिक सऊदी राजकुमार ने कट्टर इस्लाम की सऊदी समर्थन के हवाले से सनसनीखेज खुलासा किया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन्होंने अमेरिका में अपने दौरे के बीच वाशिंगटन पोस्ट को इंटरव्यू देते हुए बताया कि शीत युद्ध के दौर में जब रूस का बर्चस्व बढ़ रहा था, उस मौके पर पश्चिम की ओर से सऊदी अरब को अनुरोध किया गया कि वह रूस का मुकाबला करने के लिए दुनियाभर में मौजूद मदरसे को फंडिंग करे ताकि कट्टर इस्लाम को बढ़ावा दिया जा सके।

उनका कहना था कि बाद में सऊदी अरब ने कट्टर इस्लाम को बढ़ावा देने वाले मदरसों को फंड देना रोक दिया, लेकिन सऊदी संगठनों ने ऐसा करना जारी रखा जिसका सीधे तौर पर सऊदी अरब से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि एक के बाद एक आगामी सऊदी सरकारें इस कोशिश की प्राप्ति के लिए रास्ता भटक गईं, हमें वापस रास्ते पर आना है। आज अधिकतर कट्टर इस्लाम को फंडिंग सऊदी सरकार के बजाय सउदी संस्थानें कर रही हैं।

TOPPOPULARRECENT