कांग्रेस कई सालों तक हिन्दुओं को बांटने और मुसलमानों को एकजुट करने में कामयाब रही- सुब्रमण्यम स्वामी

, ,

   

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने गुरुवार को कहा कि उनकी पार्टी भारत को हिंदू राष्ट्र नहीं बना रही है और संविधान भी इसकी इजाजत नहीं देता है।

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, उन्होंने कहा है कि भाजपा तब तक सरकार में रहेगी जब तक वह हिंदुत्व की विचारधारा को नहीं छोड़ देती।

सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि कांग्रेस ने पूर्व में अल्पसंख्यकों को एक कर और हिंदुओं को विभाजित करके सत्ताएं हासिल की हैं। उन्होंने कहा कि सियासी रूप से आपसी मतभेद भुलाकर हिंदुओं को एक समुदाय के तौर पर एकजुट होना चाहिए।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, क्लब ऑफ फॉरेन कॉरेस्पॉन्डेंट्स द्वारा आयोजित किए गए एक डिजिटल सम्मेलन में, स्वामी ने अपने विचार व्यक्त किए, जहां AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी को भी अपने विचार रखने के लिए आमंत्रित किया गया था।

स्वमी ने कहा है कि, “कई सालों तक कांग्रेस हिंदुओं को विभाजित करने और अल्पसंख्यकों को एक साथ रखने में कामयाब रही और इसलिए यह समय-समय पर बार-बार सरकार बनाने में सफल हुई।”

भाजपा नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा कि कांग्रेस ने कथित तौर पर आर्य द्रविड़, जाति आदि के “फलहीन” ऐतिहासिक विचारों के आधार पर हिंदुओं को विभाजित किया।

भाजपा नेता ने कहा कि हिंदुत्व की विचारधारा की वजह से भाजपा का वोट प्रतिशत बढ़ा है। स्वामी ने कहा कि, “यदि हिंदुत्व की विचारधारा जारी रहती है, तो हम आगे भी चुनाव जीतेंगे।”