Wednesday , December 13 2017

दुनिया भर में बढ़ा ‘हिजामाह थिरेपी’का क्रेज़, UP में लगाया गया फ्री ट्रेनिंग कैंप

पुरी दुनिया में हिजामाह थिरेपी का क्रेज बढ़ती जा रही है। हिजामाह एक यूनानी इलाज़ का तरीका है जिससे शरीर की फिटनेस में काफी मदद करती है। यह थिरेपी लगातार सुर्खियों में अब रहने लगा है। इसी के मद्देनजर मेंहनगर में ‘फ़लाहे आम वेलफेयर सोसाइट’ की तरफ से हज़ारों साल पुरानी विलुप्ति होती हिजामह(कपिंग) थेरेपी का निःशुल्क ट्रेनिंग कैम्प किया गया।

इस कैंप में सैकड़ोें रोगियों के अलावा एक दर्जन से अधिक डॉक्टरों ने भी हिस्सा लिया। हिजामह(कपिंग) के एक्सपर्ट और कलकत्ता यूनानी मेडीकल कॉलेज के प्रोफ़ेसर डॉ जुल्फेकार अली आज़मी ने अपने लेक्चर में बताया कि ये हज़ारों साल पुरानी थेरैपी है और अब इसे और मॉडर्न बनाकर सियाटिका, माइग्रेन, फ़ालिज, लकवा,स्पांडयोलाइटिस,जॉइंट पेन,कमर दर्द,स्लिप डिस्क,चर्म रोग और किसी भी जगह खून के रुकने की बीमारियों में बहोत ही लाभदायक है।

मुख्य अतिथि के तौर पर नगर पंचायत के चेयरमैन रामबदन कन्नौजिया,सोसाइटी के प्रेसिडेंट, प्रमुख समाजसेवी पूर्व पार्षद अब्दुल अज़ीज़,डॉ मोहम्मद अय्यूब,मुफ़्ती शादाब अहमद क़ासमी और हाफिज़ इफ्तेखार अहमद के हाथों परिशिक्षण के लिए आये हुए डॉक्टरों को ट्रेनिंग सर्टिफिकेट भी दिया गया।

प्रोग्राम में महिला डॉ नुसरत जहां चिकित्सा अधिकारी पश्चिम बंगाल सरकार,डॉ ज़ीशान, डॉ आमिर,सबीहा अंसारी प्रदेश कोऑर्डिनेटर कांग्रेस माइनॉरिटी सेल,ज़फर अहमद ज़ेवर महल आज़मगढ़, हाजी नेसार अहमद उपाध्यक्ष आल इंडिया पसमांदा मुस्लिम समाज इत्यादि लोगों ने भाग लिया।

TOPPOPULARRECENT