Thursday , September 20 2018

बेंगलुरु के एक होटल ने हिन्दू-मुस्लिम शादीशुदा जोड़े को रूम देने से किया इंकार

बेंगलुरु के एक होटल में रिसेप्शनिस्ट ने एक शादीशुदा जोड़े को रूम देने से सिर्फ इसलिए इंकार कर दिया क्यूंकि वे दोनों अलग-अलग धर्मों से जुड़े हुए थे।

खबर के मुताबिक, महिला हिन्दू धर्म से हैं, जिनका नाम दिव्या है और आदमी मुस्लिम धर्म से, जिनका नाम शफीक। यह जोड़ा केरल से बेंगलुरु एक इंटरव्यू के सिलसिले में आया था।

केरल से बेंगलुरु आकर इन दोनों ने सुदामा नगर में स्थित होटल ओलिव रेजीडेंसी में एक रूम लेने की कोशिश की। ताकि दोपहर को दिव्या अपना इंटरव्यू आराम से दे पाएं।

लेकिन जब होटल में रिसेप्शनिस्ट में इन दोनों से आईडी कार्ड मांगे तो उन्हें मालूम हुआ कि पति मुस्लिम है और पत्नी हिन्दू। इतना देखते ही उसने शफीक से कहा कि हम आपको रूम नहीं दे सकते। शफीक ने जब उससे इसका कारण पूछा तो उसने जवाब दिया है कि हिन्दू-मुस्लिम जोड़े को रूम नहीं देते।

शफीक और दिव्या वहां सुबह 7 बजे पहुंचे थे और शफीक ने रिसेप्शनिस्ट को बताया कि दोपहर 2 बजे उनकी पत्नी दिव्या का इंटरव्यू है। लेकिन तब भी वह उन्हें रूम देने के लिए नहीं माना।

शफीक ने उससे फिर ऐसा करने के पीछे की वजह पूछी तो उसने यही जवाब दिया कि हमारे होटल में हिन्दू-मुस्लिम जोड़े को कमरा नहीं दिया जाता क्यूंकि वे दोनों अलग-अलग धर्मों से होते हैं, जो समाज में स्वीकार्य नहीं है।

इससे शफीक और दिव्या को काफी गुस्सा आया, उन्होंने रिसेप्शनिस्ट को ऐसा करने पर पुलिस कंप्लेंट करने के लिए कहा।
जिसके बाद वक़्त की बर्बादी न करते हुए वे दोनों वहां से चले गए।

मीडिया द्वारा इस होटल के रिसेप्शनिस्ट से बातचीत करने पर उसने बताया कि इस इलाके में हिन्दू-मुस्लिम जोड़े द्वारा आत्महत्या के मामले सामने आये हैं। जब शफीक और दिव्या हमारे होटल में रूम लेने आये तो मुझे उनपर थोड़ा शक हुआ। क्योंकि उनके पास सामान भी ज्यादा नहीं था।

 

TOPPOPULARRECENT