राम मंदिर पर संतों का नया नारा- पंचायत नहीं निर्णय चाहिए’

राम मंदिर पर संतों का नया नारा- पंचायत नहीं निर्णय चाहिए’

राम मंदिर निर्माण के लिए संत समाज नए सिरे से मोर्चा खोलेगा। इसके लिए 10 अगस्त को राजधानी के एनडीएमसी कन्वेंशन सेंटर में देशभर के संतों का जमावड़ा लगेगा। इस दौरान संत राम मंदिर विवाद की जल्द सुनवाई के लिए ‘पंचायत नहीं निर्णय चाहिए’ का नारा देंगे।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, अखिल भारतीय संत समिति ने बहाने बनाकर मंदिर विवाद की सुनवाई टालने का आरोप लगाया है। समिति ने कार्यक्रम में देशभर के पांच हजार प्रमुख संतों को आमंत्रित किया है। इनमें कई शंकराचार्य भी हैं।

समिति के महामंत्री स्वामी जीतेंद्रानंद सरस्वती ने कहा कि इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की भूमिका हैरान करने वाली है। तत्कालीन मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा ने त्वरित सुनवाई की रूपरेखा तैयार की थी। उनके सेवानिवृत्त होते ही शीर्ष अदालत ने कहा कि यह विवाद उसकी प्राथमिकता सूची में नहीं है।

पहले त्वरित सुनवाई पर टालमटोल हुआ। इसके बाद मध्यस्थता के बहाने सुनवाई टाल दी। जब अन्य छोटे-छोटे मामले में कोर्ट सुनवाई करने और आदेश पारित करने में सक्रियता दिखाता है तो राम जन्मभूमि मामले में सक्रियता क्यों नहीं दिखती? समिति ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट पंचायत करने की जगह तथ्यों की विवेचना कर फैसला दे।

Top Stories