Wednesday , January 17 2018

रेप के बाद देवर मारने की धमकी दे रहा है इसलिए हिन्दू महिला को सेफ्टी के लिए पहनना पड़ा बुर्का

शाहजहांपुर: उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर में एक हिन्दू महिला को अपनी जान बचाने के लिए इस्लामी लिबास ‘बुर्का’ का इस्तेमाल करना पड़ा रहा है।

दरअसल मामला कुछ यूँ है कि इस महिला का पति का मृत्यु 6 साल पहले ही हो चुकी है जिसके बाद ससुराल वालों ने देवर के साथ शादी का झांसा देकर महिला के साथ दुष्कर्म करवाते रहे। जब महिला ने शादी की बात की तो ससुराल वालों के साथ देवर ने उसको मारपीट कर घर से निकाल दिया।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

घटना जलालाबाद थाना क्षेत्र के खाई खेड़ा गांव की है। जहां 35 वर्षीय महिला नीलम की शादी गांव के ही प्रेम चंद्र से हुई थी। शादी के बाद नीलम के दो बच्चे हुए। पीड़िता की मानें तो उसके पति की 6 साल पहले बीमारी के चलते मौत हो गई थी। उसका पति खेतीबाड़ी करता था। उसकी बीस बीघा खेती है लेकिन उस जमीन पर उसके देवर और ससुराल वालों ने कब्जा कर रखा है।

पीड़िता ने बताया कि उसके पति के मौत के बाद उसके सास-ससुर ने देवर के साथ शादी का झांसा दिया और उसके साथ जबरन दुष्कर्म करता रहा। जब वह देवर से शादी की बात करती तो वह उसके साथ मारपीट करने लगता था और बच्चों को भी जान से मारने की भी धमकी देने लगा।

अब किसी तरह पीड़िता ने इस मामले की शिकायत थाने मे की जिसके बाद पुलिस ने आरोपी ससुराल वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। हालाँकि मुकदमा दर्ज होने के तीन माह बाद भी पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाई नहीं की है।

उल्टा अब महिला को जान से मारने की धमकी भी मिल रही है। यही कारण है कि महिला ने खुद को बचाने के लिए ‘बुर्का’ पहनना शुरू कर दिया।

पीड़िता ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी न्याय की गुहार लगाई है।

TOPPOPULARRECENT