Tuesday , June 19 2018

हिन्दुस्तान की बेटी 21 साल बाद पाकिस्तान से घर लौटी

राजनीतिक दल मजलिस बचाओ तहरीक (एमबीटी) के अमजदुल्लाह खान के अथक प्रयासों और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की मदद से पाकिस्तानी युवक के धोखे का शिकार होकर पाकिस्तान पहुंची भारतीय बेटी 45 साल की मोहम्मदी बेगम 21 साल बाद हैदराबाद लौट आई है। वह बुधवार की रात को हैदराबाद आकर अपने माता- पिता से मिलकर काफी भावुक थी।

इस मौके पर हवाई अड्डे पर मजलिस बचाओ तहरीक (एमबीटी) के अमजदुल्लाह खान भी मौजूद थे। मोहम्मदी बेगम ने गुरुवार को बताया, ‘मैं करीब 10 साल पहले अपने पति के साथ पाकिस्तान गई थी। वह मेरे साथ काफी मारपीट करते थे। अपने परिवार के पास लौटकर मैं बहुत खुश हूं।

मोहम्मदी बेगम के माता- पिता ने अपनी बेटी की देश वापसी के लिए विदेश मंत्री को धन्यवाद किया है। एमबीटी के अमजदुल्लाह खान ने 14 दिसंबर को विदेश मंत्री से मदद की गुहार लगाई थी जिसके बाद सुषमा स्वराज ने महिला के लिए टिकट बाधा में मदद करने का भरोसा दिया था।

पाकिस्तानी युवक ने खुद को ओमान का निवासी होने का दावा कर महिला से शादी करके उसे अपने देश ले गया था। जहां उसने महिला को प्रताड़ित किया और माता-पिता से संपर्क करने की अनुमति नहीं दी। गौरतलब है कि मोहम्मदी बेगम मूलतः हैदराबाद के याकुतपुरा से है। महिला के पिता मोहम्मद अकबर ने बताया कि उनकी बेटी को पिछले 21 सालों से अपने परिवार से मिलने के लिए अनुमति नहीं दी गई।

इसीलिए उन्होंने सुषमा स्वराज से वीजा सुविधा मुहैया कराने की अपील की थी। जिसके बाद सुषमा के निर्देश के बाद नवंबर में पाकिस्तान ने महिला को भारत आने के लिए 30 दिनों का वीजा दिया था। उन्होंने यह भी बताया कि मोहम्मदी बेगम की शादी 1966 में पाकिस्तानी युवक मोहम्मद यूनुस से फोन पर हुई थी।

TOPPOPULARRECENT