बंगलौर : एच.के.बी.के. डिग्री कालेज में शिक्षक विकास कार्यक्रम का आयोजन

बंगलौर : एच.के.बी.के. डिग्री कालेज में शिक्षक विकास कार्यक्रम का आयोजन

बंगलौर। एच.के.बी.के. डिग्री कालेज में शिक्षक विकास कार्यक्रम आयोजित किया गया। पहले अंतरकालेज कार्यक्रम को हिन्दी विभाग के दवारा आयोजित किया गया। कार्यक्रम की शुरुआत प्रारंभ कुरान के पठन, बाइबिल और भगवतगीता के श्लोक से हुई। चर्चा का विषय छात्र एवं प्रध्यापकों का संबंध – दशा और दिशा और आधुनिक संदर्भ मे गुरू-शिष्य का संबंध था। कार्यक्रम का आगाज गणमान्य लोगों दवारा दीप प्रज्वलन के साथ हुआ।

हिन्दी के विभाग अध्यक्ष प्रोफेसर राठोर श्रीनिवास ने स्वागत भाषण दिया।
कार्यक्रम में एच.के.बी.के कालेज के सचिव मंजूर अहमद खान, डीन प्रोफेसर अनिलकुमार, प्राचार्य डा. सोगरा खातुन, डा. अताउल्ला, पी.यू. कालेज के प्राचार्य और सभी विभागों के अध्यक्ष और शिक्षक मौजूद थे।

इस मौके पर कॉलेज के सचिव मंजूर अहमद खान ने आगंतुक अथितियों का स्वागत किया। उन्होंने कहा, हिन्दी भाषा सारे विश्व में बोली जाती है। हिन्दी भाषा का प्रभाव आजकल बढ़ रहा है। अधिक से अधिक छात्र हिन्दी का उपयोग करे।

एनएमकेआरवी महिला कालेज जयनगर बेंगलुरू की हिन्दी के विभाग अध्यक्ष डा. एमवी राजेश्वरी ने छात्रों और शिक्षको के रिश्तों और उनके लक्ष्य और दिशा के बारे में जानकारी दी तथा कहा कि छात्र के जीवन में एक शिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका होती है, छात्र और शिक्षक एक सिक्के के दो पहलू हैं।

युनाइटेड डिग्री कांलेज के प्राचार्य डा. निर्मला तिवारी ने आधुनिक संदर्भ में गुरू-शिष्य के संबंध अपनी बात रखी। शहर के विभिन्न कालेजो के शिक्षक और छात्र कार्यक्रम मे शरीक थे।

अथितियों का सम्मान और प्रतिभागीयो को भागीदारी प्रमाणपत्रो का वितरण किया गया।एच.के.बी.के डिग्री कालेज के छात्र शाइस्ता बेगम, सुमैया अंजुम, तसलीम बानु, अफरीदी, तुलसी, फैजान और संगीत छात्रों ने अपनी समस्या के बारे मे चचो की।

Top Stories