डीएम इनायत खान ने पेश की मिसाल, शहीद जवान की बेटियों को लिया गोद, दो दिन का वेतन भी दान किया

डीएम इनायत खान ने पेश की मिसाल, शहीद जवान की बेटियों को लिया गोद, दो दिन का वेतन भी दान किया

बिहार के शेखपुरा जिले की DM ने जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में शहीद जवानों के परिजनों के लिए नई पहल शुरू की है। शनिवार को DM इनायत खान ने हमले में शहीद हुए बिहार के CRPF जवान संजय कुमार सिन्हा और रतन कुमार ठाकुर की बेटियों को गोद लेने की बात कही है।

DM दोनों की एक-एक बेटी की पढ़ाई के साथ-साथ उनकी परवरिश का भी आजीवन खर्चा उठाएंगीं। इसके साथ ही DM इनायत खान ने अपना दो दिन का वेतन भी शहीद जवानों के परिजनों को दिया है।

शहीदों के परिवार के लिए DM ने बैंक अकाउंट भी खुलवाया है, और अपने सभी साथी पुलिसकर्मियों से भी एक दिन का वेतन शहीदों के परिवारों को देने की अपील की है। DM ने कहा कि पुलवामा की घटना से पूरा देश शोक में है और ऐसी घड़ी में सब को एक होकर सहयोग करना चाहिए। इस तरह से हम शहीदों के परिवारों की मदद कर सकते हैं यही उनके लिए सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

उल्लेखनीय है कि पुलवामा आतंकी हमले के बाद देशवासी अब तक 7 करोड़ रुपए से ज्यादा का दान कर चुके हैं। सुरक्षाबलों से जुड़े एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि की है। वहीं पुलवामा हमले के बाद भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है और अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पाकिस्तान को अलग-थलग करने की अपनी कोशिशें तेज कर दी हैं। आज से पेरिस में शुरु होने वाली फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स की बैठक में भी भारत, पाकिस्तान को आतंकी फंडिंग और मनी लॉन्ड्रिंग के लिए ब्लैकलिस्ट कराने की कोशिश करेगा।

Top Stories