Sunday , November 19 2017
Home / India / राहुल गांधी और सिंधिया पर विवादित पोस्ट लिखने वाले आईएएस को हटाया

राहुल गांधी और सिंधिया पर विवादित पोस्ट लिखने वाले आईएएस को हटाया

भोपाल। पिछले दिनों राजधानी में हुए कांग्रेस के ‘सत्याग्रह’ को नौटंकी बताने वाले आईएएस अधिकारी लोकेश कुमार जांगिड़ को उनके पद से हटाकर भोपाल बुला लिया गया है। राज्य सरकार ने गुरुवार को यह फैसला लिया। उन्हे मंत्रालय में अवर सचिव बनाया गया है। लोकेश श्योपुर में विजयपुर एसडीएम के पद पर पदस्थ थे।

लोकेश ने इससे पहले भी विवादित बयान दिए थे। सिंधिया के सत्याग्रह को उन्होंने एक वाट्सएप ग्रुप में प्रतिक्रिया देते हुए नौटंकी बताया था। विधायक रामनिवास रावत ने आईएएस अफसर की शिकायत सीएम शिवराज सिंह से की थी। शनिवार 17 जून को कांग्रेस नेता कल्लू गोटईया ने अधिकारी जनसमूह नामक वाट्सएप ग्रुप पर सीएम शिवराज सिंह चौहान के उपवास को नौटंकी और पहले से फिक्स बताया।

इस पोस्ट के जवाब में एसडीएम जांगिड़ ने लिख दिया कि तो ज्योतिरादित्य सिंधिया का उपवास क्या है? जब किसान परेशान थे तब आपके महाराज विदेश में छुट्टियां मना रहे थे।
इसके बाद एसडीएम ने दूसरी पोस्ट डाली जिसमें लिखा कि कांग्रेस विधायक जीतू पटवारी, शकुंतला खटीक का क्या, जो जनता को भड़का रहे हैं और अब भागते फिर रहे हैं। एसडीएम यहीं नहीं रुके। उन्होंने राहुल गांधी तक के लिए लिख दिया कि हां, राहुल बाबा अभी ननिहाल में हैं। गर्मी की छुट्टियां मनाने।

जिस वाट्सएप ग्रुप पर एसडीएम जांगिड़ ने यह बातें लिखी हैं उसमें प्रभारी मंत्री ललिता यादव, सांसद अनूप मिश्रा सहित जिले के सभी प्रशासनिक अफसर और नेता शामिल हैं। एसडीएम के कमेंट पर जब कांग्रेस नेताओं का विरोध बढ़ने लगा और शिकायतें सीनियर अफसरों तक पहुंची तो वे ग्रुप से निकल गए। विपक्षी पार्टी ने सवाल किया कि एक प्रशासनिक अधिकारी ऐसी टिप्पणी कैसे कर सकता है।

जिला कांग्रेस समिति भी उनके खिलाफ एक प्रस्ताव लाई। पार्टी नेताओं ने कहा कि यह अविश्वसनीय है कि एक अधिकारी ऐसे पक्षपातपूर्ण तरीके से बोल सकता है। जाहिर है, वह यह भूल गए कि अधिकारी सेवा के नियमों से बंधे होते हैं। कुछ महीने पहले इसी अधिकारी ने जवाब दिया था, ‘मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, जो उखाड़ना है उखाड़ लो’, जिस पर उनकी आलोचना हुई थी।

TOPPOPULARRECENT