सीरिया के इद्लिब में तुर्की- रुस आमने-सामने, मचा हड़कंप!

सीरिया के इद्लिब में तुर्की- रुस आमने-सामने, मचा हड़कंप!

रूस ने सीरिया में आम लोगों पर हमले के बारे में तुर्की के दावे को पूरी तरह ख़ारिज किया।

 

रूस के विदेश और रक्षा मंत्रालय तथा क्रेमलिन के प्रवक्ता ने तुर्क राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान के बुधवार के उस बयान को झूठ बताया जिसमें उन्होंने कहा था कि सीरिया के इद्लिब प्रांत में सीरियाई और रूसी सैनिक आम लोगों पर हमला कर रहे हैं।

 

पार्स टुडे पर छपी खबर के अनुसार, रूस ने तुर्की के राष्ट्रपति के दावे को सच्चाई के विपरीत बताया।

 

तस्नीम न्यूज़ के मुताबिक़, रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता मारिया ज़ख़ारोवा ने प्रेस कान्फ़्रेंस में कहा कि रूस, सीरिया के इद्लिब प्रांत में आम लोगों पर रूस के हमले पर आधारित, अंकारा सरकार के बयान को कड़ाई से रद्द करता है।

 

ज़ख़ारोवा ने तुर्क राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान के बुधवार के इस बयान पर कि इद्लिब प्रांत में सीरियाई और रूसी सेना के ज़्यादातर हमले आम लोगों पर हो रहे हैं, कहा कि हम इस तरह के दावे को स्वीकार नहीं करेंगे और अपने दृष्टिकोण का साफ़ तौर पर एलान करेंगे।

 

ज़ख़ारोवा ने कहा कि दोनों पक्ष इद्लिब के हालात के बारे में अलग अलग व्याख्या कर रहें हैं, इस वजह से दोनों देशों के प्रतिनिधियों के बीच विचार विमर्श हो रहा है, ताकि इस संबंध में संयुक्त बिन्दु बन सके।

 

दूसरी ओर रूसी राष्ट्रपति कार्यालय के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोफ़ ने भी, तुर्क राष्ट्रपति अर्दोग़ान के इद्लिब में आम लोगों पर दमिश्क़ और मॉस्को के हमले पर आधारित बयान के जवाब में, कहा कि रूस सोची समझौते का अभी भी पाबंद है और वह हालात को सुधारने की कोशिश कर रहा है।

 

क्रेमलिन के मुताबिक़, रूस और तुर्की के राष्ट्रपतियों के बीच बुधवार को टेलीफ़ोन पर बातचीत हुयी जिसमें सीरिया के इद्लिब प्रांत के मौजूदा हालात की समीक्षा हुयी।