IMA घोटाला- मंसूर खान को ED ने दिल्ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

IMA घोटाला- मंसूर खान को ED ने दिल्ली एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

आईएमए ज्वेलर्स पोंजी घोटाले के आरोपी मोहम्मद मंसूर खान को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिल्ली हवाई अड्डे से आज सुबह गिरफ्तार कर लिया है। उसे आगे की पूछताछ के लिए दिल्ली के एमटीएनएल बिल्डिंग स्थित ईडी के दफ्तर ले जाया गया है।

इससे पहले एसआईटी अध्यक्ष रविकांत गौड़ा ने बताया था कि एसआईटी टीम ने कंपनी के संस्थापक मोहम्मद मंसूर खान के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया है। एसआईटी ने अपने सूत्रों के जरिए दुबई में उसके ठिकाने का पता लगा लिया है। उसे भारत वापस आने और खुद को कानून के हवाले करने के लिए मनाया जा रहा है।

दिल्ली में एसआईटी के अधिकारी उसकी सुरक्षित गिरफ्तारी करने के लिए पहले से ही मौजूद थे। गौड़ा ने कहा, ‘प्रवर्तन निदेशालय और एसआईटी ने उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया है। उसे प्रक्रिया के अनुसार सौंप दिया जाएगा।’

बता दें कि मंसूर खान ने 15 जुलाई को एक वीडियो जारी करते हुए कहा था कि मैं अगले 24 घंटों में भारत लौटूंगा, मुझे भारतीय न्यायपालिका पर पूरा भरोसा है। सबसे पहले, भारत छोड़ना एक बड़ी गलती थी, लेकिन हालात ऐसे थे कि मुझे छोड़ना पड़ा। मुझे यह भी नहीं पता कि मेरा परिवार कहां है।

एसआईटी जांच में यह बात सामने आई है कि खान दो बार दुबई से भागने की कोशिश कर चुका है। वह बंगलूरू से आठ जून को भाग गया था। एसआईटी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि उसकी सऊदी जाने की योजना उस वक्त सामने आई जब दुबई में ट्रेवल एजेंट ने उसकी मदद करने से इनकार कर दिया। वहीं खान की ओमान जाने की योजना भी उस वक्त खत्म हो गई जब उसका पासपोर्ट निलंबित किया गया।

2006 में शुरू किया था हलाला बैंक

करीब 13 साल पहले मंसूर खान ने आईएमए नामक इस्लामिक बैंक और हलाल निवेशक कंपनी शुरू की। उसने लोगों को निवेश पर 14-18 फीसदी रिटर्न का वादा किया। फर्म में ज्यादातर निवेशक मुस्लिम हैं। खान ने ज्वैलरी, रियल एस्टेट, बुलियन ट्रेडिंग, फार्मेसी, पब्लिकेशन और शिक्षा में कारोबार फैला रखा था। एक रिपोर्ट के मुताबिक इस फर्म में करीब 10 हजार निवेशक हैं और उन्होंने 2,000 करोड़ रुपये का निवेश कर रखा था। निवेशकों के मुताबिक उन्हें कुछ मस्जिदों के उलेमा और मौलवियों ने आईएमए में पैसा लगाने को कहा था। मौलवियों ने उन्हें पैसा सुरक्षित रहने का भरोसा दिया था। साथ ही बताया कि फर्म इस्लामिक दिशानिर्देशों के हिसाब से काम करती है।

Top Stories