Sunday , January 21 2018

गाय से ज्यादा ज़रूरी इंसानों की जान बचाना है: विमलसागर महाराज

सोशल मीडिया पर जैन धर्म के गुरु विमलसागरसूरीश्वरजी महाराज का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें वह देश में गाय के नाम पर हो रही हिंसा और कत्लेआम की बात कर रहे हैं।

इसमें वह देश के हालात की निंदा करते हुए कह रहे हैं कि मैं पशु पक्षियों की सुरक्षा को इतना जरुरी नहीं समझता। मैं समझता हूँ की पहले इंसान की सुरक्षा जरूरी है। जिस तरह से पशुओं के नाम पर कत्लखाने देश में खोले जा रहे हैं।

उससे इंसान की सुरक्षा खतरे में हैं और अगर इंसान ही जिन्दा नहीं बचेगा तो पशुओं को कौन पूछेगा। कहाँ से पशुओं को पालने के लिए गौशाला खोलोगे और जीव दया धर्म का पालन करोगे। ऐसा चलता रहा तो आपकी संस्कृति और धर्म जल्द ही खत्म हो जायेगा।

इस पर एक बहुत बड़ी बहस हो सकती है। हम पशुओं के कत्ल की फ़िक्र कर रहे हैं जबकि हमारी खुद की जान दांव पर लगी है। उसकी फ़िक्र करो।

पशु कभी कत्ल के लिए कतारों में खड़ा नहीं होता लेकिन आज कल समझदार और पढ़ा लिखा इंसान कतारों में खड़ा है।
उन्होंने कहा कि इस दौड़  में मुसलामानों, सिखों और यहूदियों को गिनती में नहीं ले रहा क्यूंकि वह लोग बहुत समझदार हैं।

वह कुछ भी कर लें। लेकिन वह अपने धर्म और संस्कृति, परंपरा, सिद्धांतों साहित्य के खिलाफ कभी नहीं जाते हैं क्यूंकि उन्हें उसपर बहुत गर्व है। वे गौरवशाली लोग हैं। वह हमेशा इन्हे साथ लेकर चलते हैं।

चाहे वह देश में हो या देश से बाहर। वह हमेशा अपने धर्म और औकात के अंदर ही चलते हैं।

TOPPOPULARRECENT