Monday , December 11 2017

इमरान प्रतापगढ़ी ने मदरसों के खिलाफ झूठा प्रचार पर मीडिया की निंदा की

 

इमरान प्रतापगढ़ी प्रसिद्ध  जो उर्दू भाषा और हिंदी भाषा के प्रसिद्ध कवि हैं उन्होंने अपनी क्रांतिकारी कविताओं के माध्यम से दर्शकों के बीच प्रमुखता प्राप्त की है,

उनका कहना है कि 20 सालों के दौरान मीडिया ने मदरसों के खिलाफ  गलत प्रचार किया है। इमरान प्रतापगारी का कहना है कि मदरसा  प्यार के संदेश को बढ़ावा देता है इसलिए इसे आतंकवाद से नहीं जोड़ा जाना चाहिए। धर्म के आधार पर स्मारकों के भेदभाव की निंदा करते हुए, प्रतापगारी ने कहा ये स्मारक मुसलमानो ने बनवाई है और हमें इस पर गर्व है।

देश के लिए मदरसों के योगदान को उजागर करते हुए करते हुए कहा कि मुसलमानों ने देश के लिए अपना जीवन बलिदान किया है जब भी देश को उस की ज़रूरत पड़ी है । देश की आजादी में भी मदरसों ने अहम् किरदार निभाया है मदरसा ने देश ज़किर हुसैन, फखरुद्दीन और कलाम जैसे लीडर दिए हैं

इमरान ने मुसलमानो के खिलफ बोलने के लिए बाबा रामदेव पर भी टिपण्णी की

युवा कवि ने केंद्र सरकार की बढ़ती कीमतों और प्रचलित भ्रष्टाचार का आह्वान  करते हुए करते हुए कहा कि देश चलना और चाय बनाने इतना आसान नहीं है

TOPPOPULARRECENT