घर पर ही नर्स के जरिए 7 माह के गर्भ को गिरा रही थी महिला, हुई बेहद दर्दनाक मौत

घर पर ही नर्स के जरिए 7 माह के गर्भ को गिरा रही थी महिला, हुई बेहद दर्दनाक मौत
Click for full image

तमिलनाडु  में  एक 30 वर्षीय महिला की सात माह के गर्भ को  घर पर नर्स द्वारा गर्भपात कराए जाने के दौरान मौत हो गई. पुलिस के अनुसार यह मामला कथित तौर पर एक कन्या भ्रूण से जुड़ा हुआ है. इस घटना के बाद यह स्थान (उसीलामपट्टी)एक बार फिर नवजात बालिका शिशु की हत्या के चलन के लिए बदनाम हुआ है.

लिंग परीक्षण में बच्ची होने का पता चला

पुलिस ने बताया कि रामूतयी पहले से ही तीन बेटियों की मां थी. एक निजी अस्पताल में कराए गए लिंग परीक्षण के दौरान गर्भ में एक और बच्ची के होने का पता चला. प्रतिबंध के बावजूद अस्पताल ने जन्म से पूर्व लिंग परीक्षण जांच की.

उथपुरम की महिला के परिवार वाले गर्भपात करना चाहते थे और उन्होंने इसके लिए धोट्टाप्पनयगर के एक अस्पताल से संपर्क किया, लेकिन डॉक्टरों ने सात माह के गर्भ को देखते हुए इससे इंकार कर दिया.

नर्स के जरिए गर्भपात की कोशिश

पुलिस ने बताया कि इसके बाद महिला ने अपने घर पर एक नर्स के जरिये गर्भपात का प्रयास किया जिसमें उसकी मौत हो गयी. पुलिस ने बताया कि नर्स फरार है. उन्होंने बताया कि एक मामला दर्ज किया गया है और मामले की जांच की जा रही है.

मदुरै जिले की उसीलामपट्टी तहसील 80 और 90 के दशक में कन्या भ्रूण को जहर देकर मारने के लिए कुख्यात रही है. हालांकि राज्य सरकार के विभिन्न प्रयासों के कारण इस चलन में धीरे-धीरे कमी आ गयी.

Top Stories