कोरोनावायरस- भारत में चार लोगों के संक्रमित होने की आशंका, बेंगलूरू, हैदराबाद में भी सामने आए मामले

कोरोनावायरस- भारत में चार लोगों के संक्रमित होने की आशंका, बेंगलूरू, हैदराबाद में भी सामने आए मामले

चीन से शुरू हुए कोरोनावायरस की वजह से दुनियाभर में खौफ का माहौल है। सभी देश दूसरे देशों से आने वाले यात्रियों की जांच कर रहे हैं। भारत में भी हवाई अड्डों पर यात्रियों की जांच की जा रही है। चीन में अब तक इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है और इससे 830 लोगों के पीड़ित होने की पुष्टि हुई है।

भारत में चार व्यक्तियों के संक्रमित होने की आशंका
भारत में चार व्यक्तियों के संक्रमित होने की आशंका है। चीन से मुंबई लौटे दो व्यक्तियों के कोरोनावायरस से संक्रमित होने की आशंका के चलते उन्हें चिकित्सकों की निगरानी में यहां एक अस्पताल के अलग वार्ड में रखा गया है। इसके अलावा बेंगलूरू और हैदराबाद में भी 1—1 मामला सामने आया है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। स्वास्थ्य विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि मुंबई हवाई अड्डे पर यात्रियों की स्वास्थ्य जांच के दौरान कोरोनावायरस के संक्रमण के मामले सामने नहीं आए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि ICMR-NIV पुणे ने कोरोनावायरस के मामले में यह पुष्टि की है।

नेपाल में सामने आया पहला मामला
नेपाल में भी वायरस का पहला मामला सामने आया है। नेपाल स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि एक छात्र जो वुहान, चीन से लौटा था वह कोरोनोवायरस से संक्रमित पाया गया है। इस से पहले अमेरिका ने भी अपने यहां इस वायरस के पहले मामले की घोषणा की थी।

केरल में 80 लोगों पर रखी जा रही नजर
पिछले कुछ दिनों में चीन से केरल आए 80 लोगों की स्वास्थ्य स्थिति पर राज्य के स्वास्थ्य अधिकारी नजर रखे हुए हैं। करीबी निगरानी में देखा जा रहा है कि कहीं ये लोग कोरोनावायरस से तो प्रभावित नहीं हुए हैं।

अधिकारियों ने बताया कि बुखार, जुकाम के लक्षण वाले सात लोगों का राज्य में विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में उपचार चल रहा है। इसके अलावा 73 लोगों को घर पर निगरानी में रखा गया है। ये सभी लोग चीन से आए थे।

बहरहाल, कोचीन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे की एक सूचना में कहा गया है कि शुक्रवार को हवाई अड्डे पर 24 यात्रियों की जांच हुई लेकिन कोई भी संदिग्ध मामला नहीं मिला। अधिकारियों के मुताबिक, एर्नाकुलम जिले में अस्पतालों में दो लोगों को निगरानी में रखा गया है।

एम्स ने बनाया अलग वार्ड
कोरोनावायरस के किसी भी मामले से निपटने के लिए दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) पूरी तरह तैयार है। एम्स ने कोरोनावायरस संक्रमण के किसी भी संदिग्ध मामले में उपचार प्रदान करने के लिए एक अलग वार्ड बनाया है। इस वार्ड में मरीजों के लिए बेड तैयार रखे गए हैं।

अमेरिका में चीन के विषाणु दूसरे मरीज की हुई पुष्टि
अमेरिका के शिकागो में शुक्रवार को एक महिला की चीन से आने वाले घातक विषाणु की चपेट में आने की पुष्टि हुई है। देश में वह दूसरी ऐसी मरीज है जबकि 50 अन्य संदिग्ध मरीजों की मेडिकल जांच चल रही है।

चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 25
चीन में इस वायरस की वजह से हालात बेकाबू होते जा रहे हैं। चीन में अब तक इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 25 हो गई है और इससे 830 लोगों के पीड़ित होने की पुष्टि हुई है। बीमारी को रोकने के लिए आपात कदम उठाते हुए वुहान समेत तीन शहरों को पूरी तरह बंद कर दिया गया है।

दो करोड़ लोग अपने-अपने शहरों में कैद
वुहान, हुआंग्गांग और इजोऊ में सिटी बसों सहित सार्वजनिक यातायात के सभी साधन, सब-वे, नाव, ट्रेन और हवाई जहाज सेवाएं बंद कर दी गई हैं। करीब दो करोड़ लोग अपने-अपने शहरों में कैद हो गए हैं।

Top Stories