मनचले कसते थे फब्तियां, विरोध करने पर गर्ल्स हॉस्टल में घुसकर छात्राओं को बुरी तरह मारा

मनचले कसते थे फब्तियां, विरोध करने पर गर्ल्स हॉस्टल में घुसकर छात्राओं को बुरी तरह मारा
Click for full image

सुपौल: बिहार के सुपौल के त्रिवेणीगंज स्थित कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में मनचलों ने घुसकर मारपीट की। जानकारी के मुताबिक लाठी डंडों से करीब 34 छात्राओं को बुरी तरह घायल कर दिया। इनमें करीब बारह छात्राओं की हालत गंभीर बताई जाती है।

घटना के बारे में छात्राओं की जुबानी जो सच सामने आया है वो काफी सनसनीखेज है। दरअसल मनचले अक्सर हॉस्टल की छात्राओं के साथ छेड़खानी करते थे। दीवारों पर अश्लील और गंदी बातें लिखना आम बात था। हॉस्टल में खेल रही बच्चियों पर फब्तियां कसना तो आम बात थी। इन सबका विरोध करने पर छात्राओं के साथ बुरी तरह मारपीट की गई।

ऐसा नहीं कि बच्चियों के साथ छेड़खानी की बात स्कूल प्रबंधन को पता नहीं थी। जब बाकी टीचर और प्रिंसिपल ने मनचलों को समझाना चाहा तो शिक्षकों के साथ भी दुर्व्यवहार किया गया। मनचलों ने यहां तक कि कुछ शिक्षकों पर हमला भी किया।

फिलहाल सभी बच्चियों का इलाज चल रहा है जिनमें एक दर्जन की हालत गंभीर बताई जाती है। पुलिस ने केस दर्ज कर लिया है। वहीं अधिकारियों का दावा है कि घटना के आरोपियों की पहचान कर ली गई है। जल्दी ही उनकी गिरफ्तार होगी।

वहीं बच्चियों के परिजन घटना से आक्रोशित हैं। अप्रिय घटना की आशंका को देखते हुए स्कूल कैंपस में अतिरिक्त सुरक्षा बलों को तैनात कर दिया गया है। घटना की जानकारी मिलने के बाद सांसद रंजीत रंजन ने पीड़ित छात्राओं से अस्पताल में मुलाकात की। वहीं इस घटना को लेकर बिहार की प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल खड़े किए जा रहे हैं।

Top Stories