Sunday , December 17 2017

भारत ने इजराइल के साथ स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल के लिए 500 मिलियन डॉलर की डील को किया रद्द

नई दिल्ली। रक्षा मंत्रालय ने इजराइल के साथ स्पाइक एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल के लिए 500 मिलियन डॉलर की डील को रद्द कर दिया है। माना जा रहा है कि मंत्रालय ने यह कदम मेक इन इंडिया को बढ़ावा देने के लिए उठाया है।

सूत्रों के मुताबिक मंत्रालय अब मैन पोर्टेबल एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल (MPATGM) स्वदेश में ही बनाना चाहता है। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (DRDO) को इस मिसाइल को बनाने की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

बताया जा रहा है कि इस मिसाइल को बनाने में डीआरडीओ को करीब तीन-चार साल लग सकते हैं ।एक अंग्रेजी अखबार के मुताबिक मंत्रालय भारत में ही अत्याधुनिक हथियारों के निर्माण को बढ़ावा देना चाहता है इसलिए इजराइल के साथ डील को रद्द किया गया।

उल्लेखनीय है कि साल 2016 में इजराइल से राफेल एडवांस्ड डिफेंस सिस्टम की डील होने के बाद स्पाइक मिसाइल की डील को भारत-इजरायल के संबंधों में और मजबूती के रूप में देखा जा रहा था।

इजरायल के राफेल और कल्याणी ग्रुप के साथ भारत में ही मिसाइल बनाने पर सहमति बनी थी जिसके बाद हैदराबाद के पास इसके लिए एक आधुनिक प्लांट भी बनाया जा रहा था।DRDO इससे पहले ‘नाग’ और ‘अनामिका’ जैसी एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल बना चुका है।

वहीं इजराईल के साथ डील रद्द होने पर भारतीय सेना के आधुनिकीकरण करने के प्रयासों को बड़ा झटका माना जा रहा है क्योंकि ऐसे आधुनिक हथियार लाइन ऑफ कंट्रोल पर तैनात जवानों की ताकत बढ़ाने में बेहद कारगर होते हैं।

TOPPOPULARRECENT