Thursday , May 24 2018

सेना के गोला-बारूद डिपो के करीब भाजपा नेता ने बनाया घर, सेना ने बताया गैरकानूनी

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर में वरिष्ठ भाजपा नेता और पूर्व उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह अपने घर को लेकर विवाद में आ गए हैं जो कि सेना के गोला-बारूद डिपो के बेहद करीब है। इस जमीन को सेना ने अवैध करार दिया है।

यह जमीन नगरोटा स्थित भारतीय सेना के गोला-बारूद डिपो के बेहद करीब है, जिसपर सेना ने आपत्ति जताई है। यह जमीन तकरीबन 2000 स्क्वायर किलोमीटर की है।
इस जमीन को 2014 में खरीदा गया था, जिसे पर निर्मल सिंह ने घर का निर्माण भी शुरू करा दिया था, जिसके बाद सेना की 16वीं कॉर्पोरेशन के लेफ्टीनेंट जनरल सरनजीत सिंह ने कड़ी आपत्ति जताते हुए पत्र लिखा है।

19 मार्च 2018 को यह पत्र निर्मल सिंह को लिखा गया है, जिसमे कहा गया है कि निर्मल सिंह ने जो घर बनवाया है वह गैरकानूनी है, इस घर से गोला-बारूद डिपो की सुरक्षा को खतरा है, साथ ही यहां रह रहे लोगों को भी इससे खतरा होगा। लेफ्टिनेंट ने लिखा कि मैं आपसे अपील करता हूं कि आप डिपो के करीब घर बनवाने के अपने फैसले पर फिर से विचार करें, क्योंकि इसकी वजह से सुरक्षा को खतरा है।

नगरोटा के एक सेना के अधिकारी ने बताया कि लेफ्टिनेंट सरनजीत सिंह को यह पत्र सीधे निर्मल सिंह को इसलिए लिखना पड़ा क्योंकि स्थानीय प्रशासन सेना की अपील को सुन नहीं रहा था। यह निर्माण सुरक्षा को लेकर बड़ा खतरा है, बावजूद इसके कई बार कहने पर भी निर्माण को नहीं रुकवाया गया।

वहीं इस पूरे प्रकरण पर निर्मल सिंह का कहना है कि यह पूरा मामला राजनीति से प्रेरित है, मेरे पास इस तरह का कोई कानूनी निर्देश नहीं है कि मैं इस इलाके में घर नहीं बना सकता हूं। जो सेना कह रही है यह उनका मत है, लेकिन मुझ पर इस तरह की कोई कानूनी बाध्यता नहीं है। आपको बता दें कि यह जमीन हिमगिरी इंफ्रास्ट्रक्चर डेवेलपमेंट प्राइवेट लिमिटेड कंपनी की है, जिसे वर्ष 2000 में खरीदा गया था जिसमे भाजपा नेता कवींद्र गुप्ता और जुगल किशोर शेयरहोल्डर हैं।

TOPPOPULARRECENT