Tuesday , September 25 2018

बीजेपी नेता ने ओवैसी को किया चैलेंज, कहा- ‘हिम्मत है तो मेरे खिलाफ़ लड़ कर दिखाए’

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने शनिवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को हैदराबाद से लोकसभा चुनाव लड़ने की चेतावनी दी थी। ओवैसी ने तो यहां तक कह दिया था कि शाह हैदराबाद से नहीं जीत पाएंगे।

ओवैसी को तेलंगाना बीजेपी के वरिष्ठ नेता और विधायक किशन रेड्डी ने करारा जवाब देते हुए कहा कि अगर उनमें हिम्मत है तो वह मेरे खिलाफ अम्बरपेट से लड़कर दिखाएं।

किशन रेड्डी ने कहा कि यह उचित नहीं है कि ओवैसी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को चुनौती दें क्योंकि वह गुजरात से हैं। उन्होंने कहा कि यह तो जनता तय करेगी कि मैं अपनी सीट बचा पाऊंगा या नहीं, या बीजेपी तेलंगाना में सरकार बनाएगी या नहीं।

उन्होंने यह भी कहा कि बीजेपी ने कल की महबूबनगर रैली के बाद से बिगुल फूंक दिया है। हमारी पार्टी अपने बलबूते पर चुनाव लड़ेगी और बिना किसी के सहयोग के सरकार बनाएगी।

आगे की रणनीति पर चर्चा करते हुए रेड्डी ने कहा कि जल्द ही उम्मीदवारों के चयन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। कांग्रेस-टीडीपी का गठबंधन अनैतिक है। उन्होंने यह भी दोहाराया कि टीडीपी ने कांग्रेस के साथ केवल इसलिए गठबंधन किया है कि ताकि वह अपनी उपस्थिति उन क्षेत्रों में दिखा सके जहां पार्टी बिल्कुल भी मौजूद नहीं है।

इससे पहले, शनिवार को बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह में महबूब नगर में रैली में कहा कि तेलंगाना में बीजेपी आगामी विधानसभा चुनाव में अकेले मैदान में उतरेगी. शाह ने कहा कि बीजेपी इस दक्षिणी राज्य में सत्तारूढ़ तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के साथ समझौता नहीं करेगी।

उन्होंने केसी राव पर हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि उसने ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहाद-उल मुसलमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी से रिश्ते खराब होने के डर से 17 सितंबर तेलंगाना स्वतंत्रता दिवस को मनाना बंद कर दिया है। उन्होंने याद दिलाया कि इसी दिन हैदराबाद राज्य को भारत में शामिल किया गया था लेकिन टीआरएस सरकार इस दिन को एआईएमआईएम के डर के कारण नहीं मना रही है।

इस पर असदुद्दीन औवेसी ने भी पलटवार करते हुए कहा था कि बीजेपी चुनिंदा बातों को भूलने से ग्रस्त है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा था, “आप (बीजेपी) हैदराबाद या तेलंगाना में सफल नहीं होगी। मैं यह कहना चाहूंगा कि यदि आपकी कोई रणनीति है, तो शाह, हैदराबाद आए और यहां से संसदीय चुनाव लड़ें।

औवेसी ने दावा किया कि बीजेपी हैदराबाद में पांच विधानसभा सीटों के साथ ही सिकंदराबाद लोकसभा सीट बचाने में भी सफल नहीं होगी। ओवैसे ने कहा कि बीजेपी भूल गई है कि उसने 2002 में समय पूर्व विधानसभा भंग कर दी थी।

ओवैसी ने दोहराया कि चंद्रशेखर राव फिर से मुख्यमंत्री बनेंगे। ओवैसी ने कहा, “सच्चाई यह है कि बीजेपी को डर सता रहा है। क्या पार्टी सीएम पद के उम्मीदवार का नाम बता सकती है? तेलंगाना में पूरी तरह से शांति है और समाज के सभी वर्ग के लोग राज्य में हो रहे विकास से खुश हैं।

TOPPOPULARRECENT