Tuesday , September 25 2018

ऑल्ट न्यूज़ की पड़ताल : तेंदुलकर, ओवैसी और हिलेरी क्लिंटन के फ़र्ज़ी ट्वीट सोशल मीडिया पर वायरल

फ़र्ज़ी उद्धरण परोसने वाले कभी नहीं सोते। सोशल मीडिया के बावजूद ऐसी फ़र्ज़ी उद्धरण को ऑल्ट न्यूज़ ने 19 मार्च से ट्रैक करना शुरू किया जिसमें कई हस्तियों को लपेटा गया है जो बिल्कुल गलत है। इसमें एक पूर्व क्रिकेटर, दो राजनेता, दो फ़िल्मी सितारे और पत्रकार शामिल हैं।

फेसबुक पर एक पोस्ट के अनुसार पूर्व अमेरिकी विदेश सचिव हिलेरी क्लिंटन को उदृत किया गया है कि मोदी जैसे प्रधानमंत्री की इस दुनिया से आतंकवाद का सफाया करने की जरूरत है। यह फेसबुक पेज योगी आदित्यनाथ द्वारा पोस्ट किया गया है जिनके 600,000 से ज्यादा अनुयायी हैं। इसको 20 मार्च को पोस्ट किया गया और पहले ही दिन 3,400 बार से अधिक साझा किया गया है।

पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी फ़र्ज़ी उद्धरण से नहीं बचे हैं। उनको उदृत करते हुए लिखा गया है कि मोदी जी हमारे देश का गौरव हैं, मैं उसके साथ हूं। यह जिस पेज पर पोस्ट किया गया है, उसका नाम अटल मोदी है, जिसके फेसबुक पर एक लाख से अधिक अनुयायी हैं। इसको 20 मार्च की दोपहर में पोस्ट किया गया है और 200 से अधिक बार साझा किया गया है।

एआईएमआईएम सांसद असदुद्दीन ओवैसी भी इसके नवीनतम शिकारों में शामिल हैं। फेसबुक पेज ‘वी सपोर्ट बीजेपी इंडिया’ जिसके करीब 60,000 अनुयायी हैं, ने ओवैसी को उदृत करते हुए कहा है, ‘अगर हमारे बांग्लादेशी भाइयों को भारत से बाहर निकालने का प्रयास किया गया तो ऐसे दंगे होंगे कि हिन्दू भूल नहीं पाएंगे। इसको 20 मार्च को पोस्ट किया गया है और यह फ़र्ज़ी है।

‘वे एक मोदी चौक बर्दाश्त नहीं कर सके जबकि कई सालों तक हम राजीव चौक, इंदिरा भवन, अकबर रोड, हुमायूं और बाबर को बर्दाश्त कर रहे हैं। इन शब्दों का इस्तेमाल अभिनेता बॉबी देओल ने फेसबुक पेज की एक पोस्ट पर किया है। मैं ज़ी न्यूज का समर्थन करता हूं, जिसके 2 मिलियन से ज्यादा फॉलोवर हैं। इस पोस्ट को पहले ही 1000 बार से अधिक साझा किया गया है।

वरिष्ठ पत्रकार करण थापर को उदृत किया गया है जिसमें कहा गया है कि नेपाल भी हिंदू राष्ट्र है, मुसलमान भी वहां रहते हैं, लेकिन शांतिपूर्ण रूप से। तुम जानते हो क्यों? क्योंकि वहां कोई बीजेपी नहीं है। इसको @करनथापार से एक ट्वीट का स्क्रीनशॉट फेसबुक पेज द्वारा पोस्ट किया गया है। साथ ही कहा गया है कि मैं रविश कुमार के साथ हूं जिसके 400,000 से ज्यादा अनुयायी हैं।

फिल्म अभिनेता अक्षय कुमार के लिए वर्णित किया गया है कि कानून बनाना ही था तो इसमें यह प्रावधान होना चाहिए था कि जिनके 2 से ज्यादा बच्चे हैं, वे वोट नहीं दे पाएंगे, वे सब्सिडी के लिए पात्र नहीं होंगे, ट्रेनों पर आरक्षण और मुफ्त में राशन नहीं मिलेगा। एक फेसबुक पेज वी सपोर्ट अमित शाह से पोस्ट किया गया है जिसके 200,000 से अधिक अनुयायियों ने एक अकाउंट से ट्वीट के जरिए साझा किया है।

ऊपर दिए गए सभी फ़र्ज़ी उद्धरण की हकीकत पिछले 24 घंटों या उससे कम समय में सामने आई हैं। यहां तक ​​कि जब हम इसे लिखते हैं, तो उद्धरण सोशल मीडिया प्लेटफार्मों में व्यापक रूप से साझा किए जा रहे हैं। ऐसे कई तरह के फ़र्ज़ी संदेश साझा किया जा रहे हैं। इनमें ज्यादातर उत्तेजक संदेश होते हैं।

TOPPOPULARRECENT