मुकेश अंबानी ने मार्क जकरबर्ग से बातचीत में कहा- ‘भारत दुनिया की टॉप-3 इकोनॉमी में शामिल होगा’

, ,

   

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन मुकेश अंबानी ने फेसबुक के सीईओ मार्क जुकरबर्ग के साथ हुई एक वर्चुअल मीटिंग में कहा है कि अगले 20 सालों में भारत दुनिया की टॉप-3 इकोनॉमी में शामिल होगा।

ADVERTISEMENT

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, वहीं मार्क जकरबर्ग ने कहा कि भारत से उन्हें काफी भरोसा है। बता दें कि भारत में जियो और व्हाट्सएप के यूजर्स की संख्या करीब बराबर (40 करोड़) है।

मार्क जुकरबर्ग ने क्या कहा?भारत हमारे लिए बहुत ही खास और महत्वपूर्ण देश है। अपने दोस्तों और परिवार के साथ कनेक्टेड रहने के लिए यहां लाखों लोग हर दिन हमारे उत्पादों का इस्तेमाल करते हैं।

चाहे वह व्हाट्सएप हो या फेसबुक हो या फिर इंस्टाग्राम ही क्यों ना हो। इसके अलावा देश के लाखों छोटे व्यवसाय व्हाट्सएप बिजनेस और मैसेंजर का इस्तेमाल करते हुए अपने कारोबार को आगे बढ़ा रहे हैं।

ADVERTISEMENT

जुकरबर्ग ने आगे कहा कि हमने पिछले महीने WhatsApp Pay को भारत में लॉन्च किया है जो कि यूपीआई और 140 बैंकों की मदद से संभव हो पाया है। यूपीआई का प्रयोग करने वाला भारत दुनिया का पहला देश है।

मुकेश अंबानी ने फेसबुक के इवेंट Facebook Fuel For India का शुक्रिया अदा करते हुए कहा कि यह इवेंट भारत के विकास की गाड़ी को बहुत आगे ले जाने में ईंधन का काम करेगी।

भारत के विकास को बढ़ावा देने वाला सबसे शक्तिशाली विचार यह है कि देश का युवा नए स्टार्टअप और नए आइडिया पर काम करें। युवा आपसे काफी प्ररित होते हैं, जब वे देखते हैं महज केवल 14 वर्षों में फेसबुक डिजिटल रूप से भारत भारत का चेहरा बन गया है।

उन्होंने कहा कि जियो मार्ट रिटेल छोटे शहरों कस्बों के छोटे दुकानदारों को जोड़ेगा और इससे लाखों नए रोजगार पैदा होंगे। अंबानी ने कहा कि जियो देश के सभी स्कूलों को जोड़ने पर भी काम कर रहा है।उन्होंने कहा कि भारत का मध्यवर्ग, जो देश के कुल परिवारों का करीब 50 प्रतिशत है, प्रति वर्ष तीन से चार प्रतिशत की दर से बढ़ेगा।

अंबानी ने कहा, टमेरा मानना है कि अगले दो दशकों में भारत दुनिया की शीर्ष तीन अर्थव्यवस्थाओं में होगा।’ उन्होंने कहा कि इससे भी महत्वपूर्ण बात यह है कि देश एक प्रमुख डिजिटल समाज बन जाएगा, जिसे युवा चलाएंगे।उन्होंने कहा, ‘हमारी प्रति व्यक्ति आय 1,800-2,000 अमरीकी डालर से बढ़कर 5,000 अमरीकी डॉलर हो जाएगी।

अंबानी ने कहा कि फेसबुक और दुनिया की कई दूसरी कंपनियों और उद्यमियों के पास भारत में कारोबार करने, इस आर्थिक और सामाजिक परिवर्तन का हिस्सा बनने का एक सुनहरा अवसर है।

फेसबुक ने खरीदी जियो में हिस्सेदारीबता दें कि इसी साल अप्रैल में फेसबुक और जियो के बीच एक सौदा हुआ था जिसके बाद फेसबुक के जाधू होल्डिंग एलएलसी को जियो प्लेटफॉर्म्स में 9.99 फीसदी की हिस्सेदारी मिली है।

फेसबुक और जियो के बीच यह सौदा 43,574 करोड़ रुपये में हुआ है। अप्रैल में इस निवेश की घोषणा करते हुए जियो ने जाधू होल्डिंग एलएलसी के बारे में कोई जानकारी नहीं दी थी।

जाधू होल्डिंग एलएलसी फेसबुक के स्वामित्व वाली एक कंपनी है जिसका उदय इसी साल मार्च में हुआ है। इस कंपनी ने भारत से पहले किसी भी देश की किसी भी कंपनी में निवेश नहीं किया है।

ADVERTISEMENT