Friday , April 20 2018

भारत अगला सीरिया बन जाएगा: प्रकाश अंबेडकर

भरीपा बहुजन महासंघ के नेता प्रकाश अम्बेडकर ने कहा कि दलित संगठनों द्वारा आयोजित राष्ट्रव्यापी बंद के दौरान विभिन्न राज्यों में हिंसा के लिए सर्वोच्च न्यायालय और केंद्र जिम्मेदार थे। हिंसा में कम से कम 9 लोग मारे गए और कई लोग घायल हो गए। दलित प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ झड़प हुई। कई राज्यों में वाहनों को आग लगा दी गई।

उन्होंने कहा कि सरकार समय पर कार्रवाई करने में विफल रही है। मैं नहीं जानता कि किसने बंद का आह्वान किया। कुछ दिन पहले सोशल मीडिया पर यह कहा गया था, हालांकि सरकार ने इस कॉल को गंभीरता से नहीं लिया। दलित नेता ने कहा कि महाराष्ट्र में विरोध प्रदर्शन के चलते 1 जनवरी को पुणे जिले के भीमा-कोरेगांव में जातिगत संघर्ष हुआ था।

दलितों और विपक्ष द्वारा इस फैसले की व्यापक आलोचना की जा रही है जिन्होंने दावा किया है कि अधिनियम के कमजोर करने से पिछड़े वर्गों के खिलाफ अधिक भेदभाव और अपराध बढ़ेगा। अंबेडकर ने हाल ही में पश्चिम बंगाल और बिहार में सांप्रदायिक हिंसा की घटनाओं पर केंद्र पर हमला बोला।

अंबेडकर ने कहा कि सत्तारूढ़ भाजपा एक लोकतांत्रिक सरकार नहीं चाहती बल्कि यह एक धार्मिक सरकार के पक्ष में है। उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) प्रमुख मोहन भागवत की हालिया बयान के लिए भी आलोचना की। आरएसएस झूठा संगठन है जो मतदाताओं को विभाजित कर रहा है।

TOPPOPULARRECENT