Monday , June 18 2018

दादरी- अख़लाक़ हत्या के आरोपी समझौते का कर रहे प्रयास, परिवार ने ठुकराया

साल 2015 में घर में गोमांस रखने के आरोप में दादरी के बिसाहड़ा गांव में मोहम्मद अख़लाक़ की पीट-पीटकर हत्या का मामला पूरे देश में सुर्ख़ियों में छाया रहा था। अब इस मामले में निपटारे तक पहुंचने का प्रयास चल रहा है। अखलाक का परिवार अब दिल्ली में रहता है लेकिन उनके भाई जान मोहम्मद दादरी में हैं।

उन्होंने कहा, मामले के आरोपी गौरव और विवेक ने उनके खिलाफ दायर मामला वापस लेने के लिए कहा है। बदले में वे हमारे खिलाफ दायर गौ हत्या के मामले वापस ले लेंगे। मैंने प्रस्ताव स्वीकार नहीं किया, क्योंकि हमने कोई अपराध नहीं किया है।

जान मोहम्मद ने कहा, उन्हें 28 सितंबर 2015 को लिंचिंग के बाद मामले को वापस लेने के लिए कॉल और संदेश प्राप्त कर रहे हैं लेकिन यह पहली बार था वे हमारे घर आए और समझौता प्रस्तावित किया। मोहम्मद ने कहा, मुझे लगता है कि यह हमारे ऊपर दबाव डालने का एक कदम था।

विवेक के पिता ओम कुमार ने स्वीकार किया कि उनका बेटा जान मोहम्मद के घर गया था। मेरा बेटा और अन्य व्यक्ति इस मामले को हल करना चाहते हैं और दोनों पक्षों से दायर मामलों को वापस लेना चाहते हैं। लेकिन मुझे नहीं पता कि बातचीत में क्या हुआ। गौतमबुद्ध नगर पुलिस प्रमुख अजय पाल शर्मा ने कहा कि वह जल्द ही पूछेंगे और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे।

पुलिस ने मामले में 18 नाबालिगों सहित 18 स्थानीय युवाओं को गिरफ्तार किया और 181 पेज का दस्तावेज (4 पेज चार्जशीट और 177 पेज केस डायरी) दायर की। किशोरों को सितंबर 2016 में जमानत पर रिहा कर दिया गया था।

एक आरोपी रवि की बीमारी के बाद अक्टूबर 2016 में न्यायिक हिरासत में मौत हुई थी। जुलाई 2017 में, अखलाक और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ गाय वध का मामला दर्ज किया था।

TOPPOPULARRECENT